जागरण संवाददाता, जालंधर

चौगिट्टी इलाके में पावरकाम की जमीन पर स्मार्ट पार्क विकसित करने के काम में रुकावट बन रहे कब्जे हटा दिए गए हैं। यह कब्जा डीसी आफिस के एक रिटायर सुपरिंटेंडेंट ने किया हुआ था।

करीब 20 मरला जमीन पर कब्जा था और कब्जा न हटाने के लिए जिले के शीर्ष अधिकारी के पीए ने नगर निगम, पावरकाम व स्मार्ट सिटी कंपनी पर दबाव बनाया, लेकिन बुधवार को पावरकाम की टीम ने कब्जा हटा दिया। विधायक राजिदर बेरी की मांग पर यह जमीन पावरकाम ने पार्क विकसित करने के नगर निगम को लीज पर दी है। अब यहां पर ग्राउंड लेवल पर काम शुरू होना था तो जमीन के एक हिस्से पर हुए कब्जे को हटाने की कोशिश शुरू की गई थी। बार-बार कोशिश के बावजूद भी पावरकाम कब्जा नहीं हटा पा रहा था। पावरकाम ने बुधवार को दबाव को दरकिनार करके कब्जे तोड़ दिए गए। प्रताप बाग पर बिना मंजूरी बनी तीसरी मंजिल को सील किया

जालंधर : नगर निगम ने प्रताप बाग रोड पर एक बहुमंजिला इमारत की तीसरी मंजिल को अवैध निर्माण पर सील किया है। एटीपी राजेंद्र शर्मा ने टीम भेज कर बिना मंजूरी बनी तीसरी मंजिल को सील करवा दिया है। इस इमारत के निर्माण के लिए जमीन का सीएलयू करवाया गया है, लेकिन नक्शे में तीसरी मंजिल पास नहीं करवाई गई थी। इसके खिलाफ आरटीआइ एक्टिविस्ट कुलदीपक सिंह ने शिकायत दी थी। हालांकि यह बिल्डिंग लंबे अरसे से बंद पड़ी है।

Edited By: Jagran