जालंधर [सुमित मलिक]। जलियांवाला बाग नरसंहार के शताब्दी समारोह के मौके पर भी सियासत जारी है। केंद्रीय मंत्री व शिअद नेत्री हरसिमरत कौर बादल ने राहुल गांधी की ओर से अमृतसर में श्री अकाल तख्त साहिब पहुंचकर माथा टेकने पर आपत्ति जताई। इस पर कैप्टन अमरिंदर ने भी हरसिमरत पर निशाना साधा। दोनों की यह लड़ाई एक-दूसरे के पूर्वजों तक पहुंच गई। इस बीच, कैप्टन अमरिंदर सिंह ने एक और ट्वीट कर हरसिमरत कौर बादल को इतिहास पढ़ने की नसीहत दी है। उन्हें जनरल डायर और जनरल ओ डायर के बीच का अंतर भी पता नहीं है क्या? क्या आप (हरसिमरत) इतनी हताशा में हैं कि जीतने के लिए झूठा का प्रचार कर रही हैं?

हरसिमरत ने सुबह करीब 11 बजे ट्वीट किया- पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह राहुल गांधी को श्री अकाल तख्त साहिब लेकर गए, लेकिन वह उनसे पूछने की हिम्मत नहीं जुटा पाए कि क्या वो कांग्रेस की तरफ से टैंकों और मोर्टार के जरिए सिखों के सर्वोच्च धर्म स्थान को ध्वस्त करने के पाप को स्वीकार करते हैं।' उन्होंने ब्रिटिश सरकार द्वारा बिना शर्त माफी मांगने के कैप्टन के बयान पर भी तंज कसा। उन्होंने लिखा- कितना विरोधाभास है कि वही व्यक्ति इस नरसंहार को लेकर ब्रिटिश सरकार से माफी मांगने को कह रहा है, जिसकी सरकार ने दरबार साहिब को क्षति पहुंचाई। वह अंग्रेजों से तो माफी की उम्मीद करते हैं, लेकिन ऑपरेशन ब्लू स्टार के लिए गांधी परिवार की माफी का क्या?

करीब तीन घंटे बाद हरसिमरत के इस ट्वीट पर कैप्टन अमरिंदर सिंह ने करारा जवाब दिया। उन्होंने लिखा-  क्या आप, आपके पति सुखबीर बादल और उनके पिता प्रकाश सिंह बादल ने आपके महान दादा सरदार सुंदर सिंह मजीठिया के कृत्य के लिए माफी मांगी है, जिन्होंने जलियांवाला बाग नरसंहार के दिन जनरल डायर को लजीज डिनर करवाया था। सुंदर सिंह मजीठिया की इसी वफादारी के लिए 1926 में नाइट की उपाधि दी गई थी।

देर रात छींटाकशी तक पहुंची बात

दोनों नेताओं के बीच छिड़ी यह जंग रात को छींटाकशी तक पहुंच गई। हरसिमरत ने रात नौ बजे के करीब कैप्टन के दादा राजा भूपेंद्र सिंह की एक फोटो शेयर की, जिसमें वह जनरल डायर के साथ खड़े हैं। साथ ही लिखा, '...और आप कैप्टन अमरिंदर सिंह गर्व से ऐसी तस्वीरों को अपनी लॉबी में प्रदर्शित करते हैं। क्या आपको अपने दादा पर शर्म महसूस नहीं होती? ऐसे घटिया आरोप लगाने से पहले तथ्यों को ठीक से परख लेना चाहिए।'

हरसिमरत का दावा है कि इस फोटो में राजा भूपेंद्र सिंह जनरल डायर को जलियांवाला बाग नरसंहार पर बधाई दे रहे हैं। हरसिमरत ने आगे लिखा- मैं आपकी शर्मिंदगी और गुस्से को समझती हूं। श्री अकाल तख्त साहिब गिराने जैसे अक्षम्य अपराध करने वाले अपने आकाओं के प्रति आपकी नर्मी को भी खूब समझती हूं। आपके झूठ कांग्रेस के उन पापों को नहीं धो पाएंगे।

टेरीजा में से कहा- सिर्फ 'शर्मनाक धब्बा' कहना काफी नहीं

हरसिमरत ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरीजा मे के बयान पर भी नाराज दिखीं। उन्होंने लिखा- टेरीजा मे द्वारा इस घटना को ब्रिटिश इतिहास का 'शर्मनाक धब्बा' कहना नाकाफी है। उन्हें माफी मांगनी चाहिए।

इधर, सिद्धू ने मोदी पर बोला हमला

कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ट्वीट किया है- प्रधानमंत्री जी, पांच साल से आप कहां हैं। जलियांवाला बाग आपकी राह ताक रहा है। ट्रस्ट के अध्यक्ष के नाते आपने कुछ नहीं किया। न ही हमें शहीदों के सम्मान के लिए अनुमति दी, जबकि बार-बार आपको पत्र लिख रहे हैं। ट्वीट के साथ सिद्धू ने पुराने पत्र भी शेयर किए। एक अन्य ट्वीट में सिद्धू ने लिखा- सर्दी में चिट्ठी लिखी थी... प्रधानमंत्री जी, दो गर्मियां बीत गईं मगर आप नहीं आए।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!