जालंधर [सुक्रांत]। जालंधर में कमिश्नरेट पुलिस एक विशेष अभियान चलाने की तैयारी कर रही है। जल्द ही पुलिस शहर के कई इलाकों में एक साथ ड्राइव चला कर सर्च अभियान करेगी ताकि शहर में चोरी के वाहन खरीदने और बेचने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जा सके। पुलिस के हाथ में कुछ अहम सुराग लगे हैं जिनमें चोरी के वाहन खरीदने वाले कई बड़े तस्करों के नाम सामने आए हैं। हालांकि अभी तक पुलिस के हाथ उनके खिलाफ कोई ठोस सुराग न लगने के कारण अभी तक पुलिस ने उनके खिलाफ कोई कार्रवाई तो नहीं की है लेकिन कुछ ऐसे अहम तथ्य हाथ लगे है जिसके जरिए पुलिस उन तक पहुंचने की तैयारी कर रही है। इसी के चलते अब जल्द ही शहर में कई इलाकों में पुलिस चोरी के वाहन खरीदने और बेचने वालों के खिलाफ अभियान चलाएगी।

थाना बारादरी की पुलिस टीम ने चोरी के वाहन बेचने निकले जिन दो आरोपितों को गिरफ्तार किया था, उन्होंने कई और वाहन चोरी किए थे जो शहर में अलग अलग जगह पर बेचे थे। पुलिस ने दोनों से पूछताछ के दौरान पता लगाया था कि कई वाहन शहर में बेचे गए हैं। पुलिस जांच में यह भी सामने आया कि यह एक बहुत बड़ा नेटवर्क है, जिसमें चोरी के वाहन खरीदने और बेचने का काम हो रहा है। जल्द ही इस मामले में पुलिस और भी खुलासे कर सकती है।

कई बड़े तस्करों के नाम आ चुके हैं सामने

पुलिस की तफ्तीश के दौरान कई बड़े तस्करों के नाम सामने आ चुके हैं लेकिन अभी तक उनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस को कोई ऐसा गवाह नहीं मिला है जो उन तक पहुंचा सके। पुलिस ने कई पुराने वाहन तस्करों और अपने गुप्तचरों को भी राडार पर लिया था जिससे पता चला था कि शहर के कई बड़े इलाकों में बड़े तस्कर बैठे हुए हैं। पुलिस ने जिस वक्त वाहन चोर गिरोह का खुलासा किया था, उसके बाद से ही सारे गायब हो गए थे। अब चोरी के वाहन खऱीदने और बेचने के वक्त यह ध्यान रखा जा रहा है कि कहीं वो पुलिस का भेजा हुआ गुप्तचर ही न हो।

चोरी के वाहन खोल कर पार्टस बेचे जाने का धंधा पकड़ रहा है जोर

पुलिस की सख्त के बाद अब चोरी किए गए वाहनों को बेचने की बजाए उनके पार्टस निकाल कर बेचने का धंधा जोर पकड़ रहा है। वाहन का चेसी नंबर सहित अन्य कई तरीकों से ट्रेस किए जाने की संभावना रहती है लेकिन यदि पार्टस निकाल कर बेचे जाते हैं तो पुलिस का रिस्क कम रहता है। चोरी के वाहनों के पार्टस खरीदने और बेचने में शहर के कई बड़े दुकानदार भी शामिल हो रहे हैं। पुलिस अब इस एंगल पर भी काम कर रही है और पार्टस खरीदने और बेचने वालों पर भी नजर रख रही है।

यह है मामला

बीते दिन थाना बारादरी की पुलिस ने चोरी के वाहन बेचने निकले किशनपुरा निवासी नरेश कुमार और हरदयाल नगर निवासी राहुल सिंह को गिरफ्तार किया था। थाना प्रभारी रविंद्र कुमार ने बताया था कि एएसआई हरदेव सिंह को सूचना मिली थी कि चोरी के वाहन बेचने की दो युवक आ रहे हैं। सूचना के आधार पर चालीस क्वार्टर रोड पर नाकाबंदी कर चोरी के वाहन सहित दोनों को गिरफ्तार किया था। उनके पास से दो और चोरी के वाहन बरामद किए गए थे।

Edited By: Vinay Kumar