जेएनएन, जालंधर। पंजाबी गायक परमीश वर्मा पर गोली चलाने वाले गैंगस्टर दिलप्रीत सिंह उर्फ दिलप्रीत बाबा को जालंधर पुलिस प्रोडक्शन वारंट पर लाई है। एक साल पहले 23 मार्च को तीन बाइक सवार युवकों ने जंडियाला में वेस्ट्रन यूनियन मनी ट्रांसफर की दुकान चलाने वाले तरसेम सिंह से ढाई लाख रुपये की नकदी लूटी थी, जिस पर थाना सदर पुलिस ने केस दर्ज किया था। मामले की जांच में गैंगस्टर दिलप्रीत बाबा का नाम सामने आया था, जिसने अपने दो साथियों के साथ मिलकर इस वारदात को अंजाम दिया था।

थाना सदर पुलिस रोपड़ जेल में बंद दिलप्रीत बाबा को शुक्रवार को जालंधर लेकर पहुंची, जिसके बाद कोर्ट में पेश कर उसको दो दिन के पुलिस रिमांड में लिया गया है। जंडियाला निवासी तरसेम सिंह ने बताया कि वह 23 मार्च 2018 को बस स्टैंड के पास स्थित अपनी वेस्ट्रन यूनियन मनी ट्रांस्फर की दुकान बंद कर स्कूटर पर घर जा रहा था। उसके पास 2.80 लाख रुपये की भारतीय करंसी थी। शाम 7.40 बजे घर को मुड़ती सड़क पर सामने से आए बाइक सवार तीन युवकों ने स्कूटर को टक्कर मार दी जिससे वह नीचे गिर गए।इसके बाद बाइक से उतरे एक युवक ने उसके कान के पास पिस्टल तान दी और जान से मारने की धमकी देते हुए स्कूटर पर लटके 2.80 लाख रुपये से भरे बैग को लूटकर फरार हो गए।

मौके से खिलौना पिस्टल और थोड़ी दूर असली मैगजीन मिली थी

पुलिस नाके से करीब 100 गज की दूरी पर हुई लूट की वारदात के बाद आरोपित जल्दी में या जानबूझकर मौके पर खिलौना पिस्टल छोड़ गए थे। शिकायतकर्ता तरसेम सिंह ने बताया कि वारदात के तुरंत बाद उन्होंने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने वहां से एक खिलौना पिस्टल बरामद की थी। इसके बाद दोनों तरफ जाती सड़कों की ओर गश्त करते हुए एक असली मैगजीन सड़क से कब्जे में ली थी। हालांकि उस समय पुलिस ने इस बात को तीन अज्ञात युवकों के खिलाफ दर्ज हुई एफआइआर में शिकायतकर्ता के कहने के बावजूद शामिल नहीं किया। पुलिस ने मामले में महज आईपीसी की धारा 179बी, 34 के तहत केस दर्ज कर खानापूर्ति पूरी कर दी थी। साथ ही शिकायतकर्ता के मुताबिक 2.80 लाख रुपये की लूट हुई थी, लेकिन पुलिस ने इसे भी 30 हजार कम दिखाया।

लूट की वारदात के 21 दिन बाद परमीश वर्मा को मारी गोली

प्रसिद्ध पंजाबी गायक परमीश वर्मा 14 अप्रैल की देर रात को मोहाली के सेक्टर-91 स्थित अपने घर लौट रहा था। इस दौरान अज्ञात युवकों ने उस पर हमला कर गोली मार दी थी। इसके बाद सोशल साइट पर दिलप्रीत बाबा ने वीडियो पोस्ट डालते हुए दावा किया था कि परमीश पर उसने ही गोली चलाई है। इसके बाद से मीडिया में छाए दिलप्रीत बाबा को पुलिस ने नौ जुलाई की दोपहर को चंडीगढ़ बस स्टेंड सेक्टर-43 से गिरफ्तार किया था।

तीन कत्ल व नौ इरादा कत्ल समेत 30 मामलों में है नामजद

दिलप्रीत बाबा पर पंजाब, चंडीगढ़, हरियाणा समेत महाराष्ट्र में कुल तीस मामले दर्ज हैं। इनमें तीन कत्ल और नौ मामले इरादा कत्ल के हैं। साथ ही पंजाबी फिल्म इंडस्ट्री के फिल्म निर्माताओं, गायकों व अभिनेताओं से फिरौती मांगने के भी कई मामले उसके खिलाफ चल रहे हैं। वहीं, उसने पुलिस पूछताछ में परमीश वर्मा को गोली मारकर गंभीर रूप से घायल करने के बाद उसके करीबियों से दस लाख रुपये फिरोती लेने का दावा किया था। इस बयान के चलते परमीश वर्मा के साथ भी कई घंटों पुलिस पूछताछ हो चुकी, लेकिन परमीश ने इस बात को स्वीकार नहीं किया।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें