संवाद सहयोगी, जालंधर : बीते दिनों आबादपुरा में मेले के दौरान टैटू आर्टिस्ट सरबजीत सिंह चीमा की हत्या उसके सिर पर शराब डालने के बाद शुरू हुए विवाद के कारण हुई थी। हत्या के मुख्य आरोपित नीरज सहित चार लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

डीसीपी गुरमीत सिंह ने प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि मेले के दौरान नीरज और सरबजीत की किसी बात पर बहस हो गई थी। बाद में नीरज साथियों को लाया और चीमा पर हमला कर दिया। उसके पास सर्जिकल ब्लेड था, जिससे उसने सरबजीत के गले पर वार किया। हमला करने के बाद नीरज साथियों सहित मौके से फरार हो गया। सरबजीत को तुरंत अस्पताल ले जाया गया जहां उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई। पुलिस ने नीरज, उसके सगे भाई सूरज, जोगी, साहिल, गोपाल और कुंदन के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया था। मामले में पुलिस ने सूरज और कुंदन को पहले ही गिरफ्तार कर लिया था। हत्या के मुख्य आरोपी नीरज और रोहन कुमार उर्फ जोगी को वीरवार को गिरफ्तार कर लिया गया। जिनकी शुक्रवार को पुलिस ने गिरफ्तारी दिखाई। पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त सर्जिकल ब्लेड भी बरामद कर लिया गया है। चारों को दो दिन के रिमांड पर लिया गया है ताकि उनके फरार साथी सूरज और गोपाल का पता लगाया जा सके। खूनी विवाद में बदल गया मजाक

नीरज और उसके साथी मेले के दौरान कोक की बोतल में शराब डालकर पी रहे थे। इसी दौरान सरबजीत भी साथियों सहित वहां मेला देखने आया। दोनों पहले से ही एक दूसरे को जानते थे। आपस में मिले तो मजाक शुरू हो गया और नीरज ने मजाक मजाक में ही सरबजीत के सिर पर शराब डाल दी। गुस्साए सरबजीत ने नीरज को धक्का मारा जिससे वो नीचे गिर गया। देखते ही देखते मजाक खूनी विवाद में बदल गया। लोगों ने दोनों पक्षों को समझाकर अलग किया लेकिन दोनों थोड़ी दूरी पर जाकर फिर से आपस में लड़ने लगे। वहां से भी लोगों ने छुड़वाया तो नीरज अपने साथियों को बुला लिया जिसके बाद सभी ने मिलकर सरबजीत की हत्या कर दी। साहिल लेकर आया था सर्जिकल ब्लेड

फास्ट फूड का काम करने वाले नीरज और अपरा में टैटू आर्टिस्ट सरबजीत के बीच झगड़ा हुआ तो लोगों ने बीच बचाव कर दिया। बाद में नीरज ने अपने भाई सूरज को बताया तो उसने अपनी मौसी के बेटे साहिल के साथ साथ रेडीमेड का काम करने वाले रोहन उर्फ जोगी, टिप्पर ड्राइवर कुंदन लाल और गोपाल को साथ लिया। गोपाल ऑर्थोनोवा अस्पताल में डेंटल डॉक्टर के साथ काम करता था। उसके पास सर्जिकल ब्लेड था जो वो अपने साथ ले आया। वो ब्लेड नीरज ने अपने पास रख लिया और सरबजीत को ढूंढ़ने लगे। जैसे ही वो मिला सभी ने मिलकर उसे घेर लिया और ब्लेड से उसके गले पर वार कर दिया। यही वार सरबजीत के लिए जानलेवा साबित हुआ।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!