जेएनएन, जालंधर। देहात पुलिस ने दस दिन पहले करतारपुर के मोहल्ला खटीका में स्थित बाबा बालकनाथ मंदिर के मुख्य सेवादार बाबा बवलीर गिरि के हत्या आरोपित को राजस्थान से गिरफ्तार किया है। आरोपित की तलाश में पुलिस टीम महाराष्ट्र के नांदेड़ साहिब के गुरुद्वारा साहिब पहुंची थीं। यहां गुरुद्वारा साहिब में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगालने में आरोपित के गुरुद्वारा साहिब में आने की पुष्टि हुई थी। इस के बाद पुलिस ने वहां के लोगों से पूछताछ की तो पता चला कि आरोपित राजस्थान जा चुका है। इस पर पुलिस टीम ने पीछा कर आरोपित भूपिंदर सिंह उर्फ विक्की (39) को राजस्थान के जिला चुरू के शहर रतनगढ़ में स्थित श्री ढाबा के बाहर से गिरफ्तार किया। उससे कत्ल में इस्तेमाल खंजर भी बरामद कर लिया गया है। आरोपित भूपिंदर सिंह को अदालत में पेश कर तीन दिन के रिमांड पर लिया गया है।

शुक्रवार को प्रेस वार्ता में जालंधर देहात पुलिस के एसएसपी नवजोत सिंह माहल ने बताया कि बाबा बालक नाथ मंदिर के मुख्य सेवादार बाबा बलवीर कुमार के पास आरोपित का अक्सर आना-जाना लगा रहता था। जम्मू के भगवती नगर निवासी आरोपित भूपिंदर सिंह उर्फ विक्की के परिवार वाले पिछले 30 साल से अधिक समय से बाबा बलवीर के साथ जुड़े हुए थे। आरोपित ने जालंधर की ही एक निजी यूनिवर्सिटी से 2009 में एमसीए की डिग्री हासिल की थी। उसने कुछ जगहों पर छोटी-मोटी नौकरियां कीं परंतु वह नाखुश था, जिसके बाद वो बाबा बलवीर का भक्त बन गया।

नौकरी और शादी नहीं होने के कारण गुस्से में था

आरोपित के मुताबिक वह बाबा को गुरु मानता था, बाबा ने दस पाल पहले भविष्यवाणी की थी कि दो साल में उसकी शादी हो जाएगी और साथ ही नौकरी भी लग जाएगी। दो साल बीतने के बाद भी जब यह भविष्यवाणी पूरी नहीं हुई तो बाबा ने उसे उन पर पर और भरोसा रखने के लिए कह दिया। इसके बाद से जब भी वह बाबा से इस संबंध में पूछता तो यह जवाब मिलता कि वह सिर्फ उन पर भरोसा रखे। इस कारण अंत उसने बाबा बलवीर की बेरहमी से हत्या कर डाली।

बाबा ने भरोसा रखने को कहा तो गुस्से में कर दिया कत्ल

एसएसपी ने बताया कि बाबा बलवीर की पत्नी अपने बेटे के साथ हिसार स्थित मायके घर गई हुई थी। इस दौरान आठ अप्रैल की रात को बाबा बलवीर से मिलने के लिए उनके पास आरोपित भूपिंदर आया था। आरोपित रात को मंदिर में बने बाबा बलवीर के घर में ही सो गया था। आरोपित सुबह तड़के उठा और बाबा बलवीर से पूछने लगा कि उसकी शादी कब होगी? और नौकरी कब लगेगी?। इस बात का बाबा बलवीर ने जवाब दिया कि वह सिर्फ उन पर भरोसा रखे। यह बात सुन आरोपित को गुस्सा आ गया और उसने बाबा बलवीर के शरीर पर खंजर से बीस के करीब वार कर दिए।

मृतक के बेटे के आंसू देख भावुक हो गया था: एसएसपी

एसएसपी नवजोत सिंह माहल ने बताया कि मृतक की पत्नी व बेटे का दर्द देख वह खुद भावुक हो गए थे। उन्होंने मृतक के परिजनों को भरोसा दिया था कि 15 दिन में आरोपित को पकड़ लेंगे। उन्होंने बताया कि नांदेड़ साहिब से पुलिस टीम का फोन आया था कि सर यहां कुछ नहीं पता लग रहा, वापस आ जाते हैं। उन्होंने वापस आने से मना कर दिया और कुछ देर और वहां रहने के लिए कहा। इसके बाद टीम को उसकी पुख्ता जानकारी मिली और वह टीम के हत्थे चढ़ गया।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sat Paul