जागरण संवाददाता, जालंधर

सरकार द्वारा दी जा रही स्कीमों को लेकर एक ही छत के नीचे तमाम तरह की सेवाएं देने के लिए जिला प्रशासन द्वारा वीरवार को लगाया गया। दो दिवसीय सुविधा कैंप के पहले दिन शहरी लोग निराश लौटे। कारण, पांच-पांच मरले के प्लाट देने से लेकर बिजली बिल माफी और रेवेन्यू संबंधी सुविधाएं केवल ग्रामीण इलाकों के लिए ही रिजर्व रखी गई थी।

सुविधा कैंप का उद्घाटन करने के दौरान डीसी घनश्याम थोरी ने कहा कि योग्य लोगों को लाभ पहुंचाने के लिए कैंप लगाया गया है। इसके तहत तहसील कांप्लेक्स के अलावा फिल्लौर, नकोदर और शाहकोट में चार कैंप लगाए गए हैं। 29 अक्टूबर को भी यह कैंप लगाए जाएंगे। डीसी ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा इस पहल से लोगों को निश्चित रूप से लाभ मिलेगा। कैंप में एलपीजी, बिजली बिल माफी, बिजली संबंधित शिकायतें, सीएलयू, सामाजिक सुरक्षा स्कीमें, सरबत स्वास्थ्य बीमा योजना, जल सप्लाई कनेक्शन, राजस्व विभाग, कर्ज, पांच मरले के प्लाटों की अलाटमेंट, आशीर्वाद स्कीम व वजीफा स्कीम का लाभ दिया जा रहा है। जिला सामाजिक सुरक्षा अधिकारी वरिंदर कुमार ने बताया कि सुविधा कैंप के दौरान सामाजिक सुरक्षा स्कीमों के लिए 154 लोगों के फार्म भरवाए गए हैं, जिसमें 98 को मौके पर ही पेंशन के मंजूरी पत्र सौंप दिए गए हैं। इस मौके पर एडीसी (जनरल) अमरजीत बैंस, उप मंडल मैजिस्ट्रेट बलबीर राज सिंह, हरप्रीत सिंह अटवाल सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

Edited By: Jagran