जालंधर, जेएनएन। रेलवे की तरफ से रिजर्वेशन टिकट के सिस्टम को पेपरलैस करने के लिए कवायद शुरू हो गई है। इसके तहत यात्रियों को रिजर्वेशन टिकट काउंटर से टिकट मिलने से पहले उनके मोबाइल पर मैसेज आएगा। इस मैसेज में टिकट का पीएनआर नंबर, ट्रेन नंबर, ट्रेन का समय और किराए की जानकारी मिलेगी। अब काउंटर टिकट का संदेश भी मान्य होगा, यानी कि ट्रेनों में टिकट को संभाल कर रखने की जरूरत नहीं और टिकट गुम होने पर टीईटी को यह संदेश दिखाया जा सकता है।

नवंबर महीने में यह सुविधा ट्रायल के तौर पर शुरू की गई थी और अब इस सुविधा को लागू कर दिया गया है। अभी तक यह सुविधा केवल यात्रियों को आइआरसीटीसी की साइट से करवाई जाने वाली ई-टिकट और यूटीएस एप के जरिये टिकट बुक करवाने पर ही मिलती थी। काउंटर पर टिकट बुक करवाने पर यह सिस्टम हाल में ही शुरू किया गया है।

रेलवे के रिकॉर्ड के अनुसार रोजाना करीब दस लाख टिकटें बुक होती हैं, जिनमें से पांच लाख टिकटें स्टेशनों में काउंटरों से बुक होती हैं। रेलवे की तरफ से भविष्य में ट्रेनों के बाहर लगने वाले रिजर्वेशन चार्ट भी हटाए जाएंगे और फिलहाल पायलट प्रोजेक्ट के तहत राजधानी और शताब्दी एक्सप्रेस में इस सिस्टम को अपनाया गया है। प्रोजेक्ट के सफल होने पर जल्द ही बाकी ट्रेनों में भी चार्ट हटाने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।

 

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Sat Paul

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!