जागरण संवाददाता, जालंधर

जिलो रोड सेफ्टी कमेटी की वीरवार को डीसी आफिस के कांफ्रेंस हाल में हुई बैठक में तंग इलाकों में पटाखों के भंडारण का मुद्दा उठा। डीसी घनश्याम थोरी ने तंग इलाकों में पटाखे का भंडारण करने वाले व्यापारियों को चेतावनी देते हुए पुलिस अधिकारियों को इनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई के आदेश दिए। मामले को लेकर 29 अक्टूबर के अंक में दैनिक जागरण ने 'लाइसेंस मिलते ही शहर में पटाखों का भंडारण शुरू' शीर्षक से खबर प्रकाशित की थी। इसे लेकर कमेटी सदस्यों ने भी बैठक में इस मुद्दे को प्रमुखता के साथ उठाया। नौ माह के बाद हुई बैठक वीरवार को महज 40 मिनट में खत्म हो गई। शाम चार बजे बैठक शुरू हुई बैठक के दौरान कमेटी के सदस्य व जालंधर वेलफेयर सोसायटी के प्रधान सुरिंदर सैनी ने कहा कि शहर के तंग इलाकों में पटाखों की बिक्री का मुद्दा उठाया।

डीसी घनश्याम थोरी ने ओवरलोड वाहनों के चालान काटने के साथ ही अतिरिक्त सामान जब्त करने के निर्देश दिए। इसके लिए ट्रैफिक पुलिस को अभियान चलाकर कार्रवाई के लिए कहा गया। पिछले दो माह में 50 ओवरलोड वाहनों के चालान काटे गए हैं। इसके अलावा कई वाहन भी जब्त किए जा चुके हैं। डीसी ने शहर के सभी प्रमुख चौराहों पर जैब्रा क्रासिग व पैदल चलने वालों के लिए व्यवस्था करने के निर्देश भी जारी किए। निगम अधिकारियों ने कहा शहर में 28 करोड़ रुपये की लागत से सड़कों के निर्माण का काम जारी है। इसे निर्धारित समय में पूरा किया जाएगा। बैठक में एडीसी जसबीर सिंह, आरटीए बरजिदर सिंह, एसडीएम राहुल सिधू, गौतम जैन, डा. विनीत कुमार व डा. संजीव शर्मा मौजूद थे। बच्चों को आनलाइन ट्रैफिक नियमों की दी जाए जानकारी

डीसी घनश्याम थोरी ने कहा कि कोरोना महामारी के चलते बच्चों को आनलाइन पढ़ाई करवाई जा रही है। इसके साथ ही बच्चों को आनलाइन ही ट्रैफिक नियमों की जानकारी दिए जाने की जरूरत है। बच्चों व अभिभावकों को अंडर-एज ड्राइविग से लेकर तमाम नियमों की जानकारी दी जानी चाहिए। अतिक्रमण हटाने के लिए व्यापक व्यवस्था करें अधिकारी

बैठक में शहर में किए गए अतिक्रमण को हटाने को लेकर भी चर्चा की गई। इसमें डीसी ने पुलिस व निगम अधिकारियों को प्राथमिकता के आधार पर इन्हें हटाने के आदेश जारी किए। इसके अलावा सेफ स्कीम वाहन पालिसी लागू करने, शराब पीकर गाड़ी चलाने वालों के चालान काटने, सुचारु यातायात सुनिश्चित करने, सड़कों की मरम्मत करने, पुलिस अधिकारियों को जरूरी उपकरण मुहैया करवाने व सिविल अस्पताल में एंबुलेंस का आसानी से प्रवेश सुनिश्चित करने को लेकर भी आदेश दिए।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस