जालंधर [शाम सहगल]। Onion Price in Jalandhar त्योहारों से पहले प्याज के दामों ने लोगों को राहत दे दी है। कारण, एशिया की नामी मंडियों में शुमार मकसूदां स्थित थोक सब्जी मंडी में अफगानिस्तान के प्याज की आमद शुरू हो गई है। इसके चलते दो दिन के भीतर ही प्याज के दामों में नौ रुपये प्रति किलो की गिरावट हो गई है। अफगानिस्तान से प्याज की आमद तेज हुई तो आने वाले दिनों में दाम में और भी गिरावट हो सकती है। जालंधर की मंडी में अमृतसर की मंडी से अफगानिस्तान के प्याज की आमद हो रही है।

बताया जा रहा है कि अमृतसर के थोक व्यापारियों ने अफगानिस्तान से प्याज मंगवाया है, जिसकी सप्लाई पंजाब में दे रहे हैं। सप्ताह के पहले दिन प्याज से भरी तीन गाड़ियां मंडी में पहुंची। अगले सप्ताह अफगानिस्तान से प्याज की आमद तेज हो सकती है। वहीं, नवंबर के प्रथम सप्ताह में लोकल सब्जियों की आमद भी शुरू होने की संभावना है, जिससे प्याज के बाद सब्जियों के दाम राहत दे सकते हैं। अक्टूबर के शुरुआत से लेकर प्याज के दामों में इजाफे का दौर निरंतर जारी था। सितंबर में रिटेल में 20 से 25 रुपये प्रति किलो बिक रहे प्याज के दाम बढ़कर रिटेल में 50 पहुंच चुके थे।

अगले सप्ताह फिर गिरेंगे दाम

सब्जी मंडी के थोक कारोबारी जसपाल सिंह बताते हैं कि अफगानिस्तान से प्याज की आमद शुरू हो चुकी है। यह प्याज लोकल प्याज से करीब 10 रुपये प्रति किलो सस्ता पड़ रहा हैं। उन्होंने कहा कि माल की आमद होते ही दाम कम कर दिए गए हैं। अगले सप्ताह माल की आमद तेज होते ही दाम फिर से गिरेंगे।

रिटेल विक्रेता कर रहे मानमानी

अफगानिस्तान का प्याज आने के बाद थोक में 40 रुपये बेचे जा रहे प्याज के दाम गिरकर 31 रुपये रह गए हैं। हालांकि शहर की पाश कालोनियों में अभी भी प्याज 45 से 50 रुपये प्रति किलो बेचे जा रहे हैं। इसी तरह गली मोहल्ले में रेहड़ियां लाकर सब्जी बेचने वाले भी पूल करके प्याज के मनमाने दाम वसूल रहे हैं।

Edited By: Vinay Kumar