जासं, जालंधर। सेंट्रल बोर्ड आफ सेकेंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) की ओर से अब विद्यार्थियों की स्किल्स को सुधारने पर जोर दिया जा रहा है। इसके लिए बोर्ड की तरफ से सातवीं से दसवीं कक्षा के विद्यार्थियों के लिए प्रेक्टिस बुक तैयार की गई है। इसकी मदद से वे इनोवेटिव तरीकों से न सिर्फ क्रिटिकल स्किल्स को सीख पाएंगे, बल्कि उनकी क्रिएटिविटी भी बेहतर होगी। इसकी मदद से उनकी विभिन्न राज्यों, देश और विदेश के बारे में समझ भी बेहतर होगी। स्टूडेंट जल्द इसके जरिये अभ्यास कर पाएंगे।

इस किताब में आहार, ट्रेवल, स्पोर्ट्स. सांस्कृति आदि मुद्दों पर जोर दिया गया है। इसके अलावा विद्यार्थियों के लिए विभिन्न तरह के मूवी रिव्यू, पोस्टर, कार्टून, ब्लाग और कई तरह के आर्टिकल शामिल किए गए हैं। प्रत्येक विषय का एक चैप्टर खत्म होने के बाद उससे जुड़े सवाल पूछे जाएंगे। प्रैक्टिस बुक की मदद से स्टूडेंट के संपूर्ण व्यक्तित्व विकास विशेष मदद मिलने की उम्मीद है। 

घर बैठे देश भर की सैर

इस किताब की मदद से विद्यार्थी घर बैठे देशभर की सैर करेंगे। विद्यार्थियों को स्वास्थ भोजन, स्पोर्ट्स, फिटनेस के साथ-साथ राज्य व अन्य राज्यों की पारंपरिक कलाओं, पारंपरिक नृत्य, नाटक, खिलौनों, खेलों की खासियतें जानने का अवसर मिलेगा। इसका उद्देश्य यही है कि विद्यार्थियों की समझ व ज्ञान को इस प्रेक्टिस बुक के जरिये बढ़ाया जा सके।

सामाजिक कुरीतियों के विरुद्ध करेगी जागरूक

यही नहीं, सामाजिक कुरीतियों प्रति जागृति लाने में भी विद्यार्थियों को यह जागरूकता का पाठ पढ़ाएगी। प्रिंसिपल रचना मोंगा का कहना है कि विद्यार्थियों में रीडिंग स्किल्स, उनके ज्ञान में बढ़ौतरी करने के साथ-साथ उनमें देश व समाज प्रति अच्छी समझ पैदा करने में यह प्रेक्टिस बुक कारगर सिद्ध होगी। क्योंकि इनमें सामाजिक कुरीतियों प्रति जागृति लाने और उनके ज्ञान में बढ़ौतरी करने की बहुमूल्य जानकारियां हैं। बोर्ड की तरफ से प्रेक्टिस बुक के रूप में विद्यार्थियों की बेहतरी के लिए उठाया गया कदम सराहनीय है।

यह भी पढ़ें - श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी के पावन स्वरूप के आगे ढोल बजाना धर्म के विपरीत, गुरुद्वारा कमेटियों ने दी चेतावनी

Edited By: Pankaj Dwivedi