जालंधर, जेएनएन। नगर निगम ने वर्कशॉप चौक से कश्यप चौक तक बिना मंजूरी के करीब 100 काॅमर्शियल इमारतें बनाने वालों को नोटिस जारी करने का फैसला लिया है। यह सभी निर्माण गोपाल नगर साइड के हैं। इनमें दुकानें, होटल, ढाबा, शोरूम शामिल हैं। इन सभी को कामर्शियल निर्माण करने के लिए चेंज ऑफ लैंड यूज न करवाने पर नोटिस जारी होंगे।

नगर निगम के ज्वाइंट कमिश्नर हरचरण सिंह ने कहा कि वर्कशॉप चौक से कश्यप चौक की तरफ दाएं हाथ की साइड को सरकार ने काॅमर्शियल कैटेगिरी में शामिल कर लिया है। इस रोड पर अब कामर्शियल निर्माण किया जा सकता है, लेकिन इसके लिए सीएलयू चार्जिस जमा करवाने होंगे। इस रोड पर ज्यादातर दुकानें और शोरूम मकानों को तोड़कर बनाए गए हैं। ज्वाइंट कमिश्नर ने कहा कि सभी को तीन दिन का नोटिस दिया जाएगा। अगर तीन दिन में जवाब नहीं आता है तो इन पर कार्रवाई होगी।

सर्वे में 48 दुकानें बिना नाम की निकलीं

नगर निगम ने इस रोड पर सर्वे किया है। सड़क पर जितनी दुकानें, शोरूम बने हैं, इनके नाम नोट किए गए हैं। ज्वाइंट कमिश्नर ने बताया कि वर्कशॉप चौक से कश्यप चोक तक दाई तरफ के सर्वे में 52 दुकानों पर बोर्ड लगे हैं जबकि 48 पर कोई बोर्ड नहीं लगा है। इसी रोड पर कुछ दुकानें धार्मिक स्थल की भी हैं। ज्वाइंट कमिश्नर ने कहा कि नियमों के मुताबिक सभी पर एक समान ही कार्रवाई होगी। कामर्शियल एक्टिविटी जारी रखने के लिए निगम को फीस चुकानी ही होगी।

हाईकोर्ट में अवैध निर्माण पर सुनवाई कल, आज हो सकती है कार्रवाई

शहर में बिना मंजूरी कॉलोनियां डवलप होने और निर्माण के खिलाफ दायर जनहित याचिका पर सुनवाई 16 नवंबर को होनी है। ऐसे में 15 नवंबर शुक्रवार को निगम कुछ अवैध निर्माण पर कार्रवाई कर सकता है। निगम को याचिका में दर्ज 448 कॉलोनियों और इमारतों पर रिपोर्ट देनी है। निगम को अब भी करीब 100 पर कार्रवाई करनी है। हाईकोर्ट इस मामले में सख्त है और कोर्ट की नाराजगी से बचने के लिए निगम अफसर शुक्रवार को अवैध कॉलोनियों और इमारतों के खिलाफ कार्रवाई कर सकते हैं।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Sat Paul

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!