जागरण संवाददाता, जालंधर : शहर में तीन जगह लगे नेशनल फ्लैग के लिए स्ट्रक्चर लगाया था, लेकिन इनका रख-रखाव नहीं किया जा रहा। अब निगम डॉ. अंबेडकर चौक में एक और नेशनल फ्लैग लगाने जा रहा है। इसके लिए टेंडर लगाया है। डॉ. बीआर अंबेडकर चौक में नेशनल फ्लैग के लिए 12.80 लाख खर्च करने का अनुमान है। यह फ्लैग एक सामाजिक संस्था की अपील पर लगाया जा रहा है। संस्था दावा कर रही है कि वह खुद फ्लैग का रख-रखाव करेगी। इससे पहले शहर में तीन जगहों पर नेशनल फ्लैग लगाए हैं, लेकिन इनमें से एक का भी सही प्रकार से रख-रखाव नहीं हो रहा। हाल में रेलवे प्रशासन ने रेलवे स्टेशन के बाहर फ्लैग लगाया था जिसे रेलवे मेंटेन कर रहा है।

सबसे पहले नेशनल फ्लैग प्रताप बाग में लगाया था। इसके बाद मकसूदां बाईपास चौक पर। एक राष्ट्रीय ध्वज नगर निगम के प्रशासकीय कांप्लेक्स के एंट्री गेट कंपनी बाग चौक में लगा है। यहां पर लगाए राष्ट्रीय ध्वज को 15 अगस्त और 26 जनवरी के आसपास ही फहराया जाता है। प्रताप बाग और मकसूदां बाईपास में नेशनल फ्लैग नहीं फहराया जा रहा।

कॉटन का फ्लैग सस्ता और पैराशूट के कपड़े का महंगा

नेशनल फ्लैग कॉटन और पैराशूट के कपड़े में आता है। कॉटन का फ्लैग सस्ता है और ज्यादा दिन नहीं चल पाता। पैराशूट के कपड़े का फ्लैग 2 से 3 महीने निकाल सकता है लेकिन इसकी कीमत काफी है। नेशनल फ्लैग को लेकर कई बार कंट्रोवर्सी भी हो चुकी है क्योंकि यह तेज हवाओं से फट जाता है और संविधान के मुताबिक नेशनल फ्लैग को ऐसी स्थिति में तुरंत उतारना पड़ता है। हाल ही में रेलवे स्टेशन के बाहर भी रेलवे प्रशासन ने नेशनल फ्लैग लगाया है। यहां भी स्थिति ऐसी है कि यह बार-बार रख-रखाव की मांग करता है।

प्रताप बाग : केयर में ज्यादा खर्च, इसलिए डंडे से गायब झंडा

प्रताप बाग में सबसे पहले नेशनल फ्लैग लगाया था और यह करीब 120 फुट ऊंचा है। प्रताप बाग वेलफेयर सोसायटी ही इसे मेंटेन कर रही थी, लेकिन दो-तीन साल में ही इस पर इतना खर्चा आ गया कि सोसायटी ने हाथ खड़े कर दिए। तब से यहां सिर्फ डंडा ही लगा है। इस पर नेशनल फ्लैग लगे कई वर्ष हो चुके हैं। यहां नेशनल फ्लैग लगाने का स्ट्रक्चर डवलप करने के लिए 10 लाख से ज्यादा रुपये खर्च किए गए थे।

मकसूदां : ट्रस्ट ने हाथ पीछे खींचे

मकसूदा बाईपास चौक पर नेशनल हाईवे के किनारे नेशनल फ्लैग इंप्रूवमेंट ट्रस्ट ने लगाया था। हाईवे से गुजरने वाले लोगों को एक सुखद अहसास और देश प्रेम जगाने का यह प्रोजेक्ट पूर्व विधायक केडी भंडारी के विधायक रहते हुआ था। इंप्रूवमेंट ट्रस्ट इस पर और खर्च नहीं कर रहा। यहां भी कई साल से सिर्फ डंडा ही नजर आता है। यहां नेशनल फ्लैग के स्ट्रक्चर पर 18 लाख रुपये खर्च हुए थे। ट्रस्ट ने नगर निगम को चार्ज लेने के लिए लेटर लिखा था, लेकिन निगम ने जवाब नहीं दिया।

कंपनी बाग चौक : निगम भी साल में दो बार फ्लैग फहराता है

कंपनी बाग चौक में नेशनल फ्लैग नगर निगम ने खुद लगाया था। ऐसा ही फ्लैग पीएपी चौक के पास भी लगाने की प्लानिग थी। कंपनी बाग चौक में तो फ्लैग लगा दिया गया, लेकिन बार-बार इसके खराब होने से यह निगम के बजट से बाहर हो गया। नगर निगम के पास अब दो-तीन नेशनल फ्लैग पड़े हैं, लेकिन इन्हें 15 अगस्त और 26 जनवरी के आसपास ही लगाया जाता है। उसके बाद उतार कर रख लिया जाता है। कंपनी बाग चौक में नेशनल फ्लैग का स्ट्रक्चर लगाने के लिए करीब 15 लाख रुपये खर्च किए थे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!