जागरण संवाददाता, जालंधर

संत विहार में सोमवार सुबह घर में अकेली रह रही 70 वर्षीय महिला बलबीर कौर का शव मिलने से हड़कंप मच गया। घटना की जानकारी तब हुई, जब सुबह करीब नौ बजे दूध वाले ने घर का दरवाजा खटखटाया। महिला के दरवाजा न खोलने पर इलाके के लोग इकट्ठे हुए। घर के अंदर देखने पर महिला की लाश दिखाई दी। मृतका के भाई के बयानों पर थाना एक की पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। घर को आते रास्ते पर 300 मीटर दूरी पर शराब की खाली बोतलें और ग्लास मिले हैं। हत्या से पहले दुष्कर्म की आशंका जताई जा रही है।

बलबीर कौर की कोई संतान नहीं थी। वह साल 2015 में अपने पति पूरन सिंह की मौत के बाद से ही घर में अकेली रह रही थी। महिला ने हत्या से पहले आरोपितों के साथ संघर्ष भी किए थे, जिसके निशान पुलिस को मिले हैं। इससे पता चलता है कि हत्या में एक से ज्यादा लोग शामिल होंगे। महिला ने सफेद सलवार और गुलाबी कुर्ता पहन रखा था। महिला की सलवार खुली हुई थी, जिसे देखकर दुष्कर्म की आशंका जताई जा रही है। पुलिस जब आई तो मृतका के दोनों हाथ दुपट्टे से बंधे हुए थे। शव फर्श पर पड़ा हुआ था। हत्या किन कारणों से की गई इसका पता नहीं चल सका है। जांच में पुलिस को मौके से महिला की एक डायरी मिली है। इसमें मृतका के रिश्तेदारों और परिचितों के नंबर लिखे हुए हैं। पुलिस ने इलाके का मोबाइल डंप उठाया है, जिससे डायरी में मिले मोबाइल नंबरों का मिलान किया जाएगा, ताकि यह पता लगाया जा सके कि वारदात के समय डायरी में दर्ज कोई नंबर मौके पर मौजूद तो नहीं था। मृतका का पोस्टमार्टम सिविल अस्पताल में शाम चार डाक्टरों के पैनल ने किया। पोस्टमार्टम के दौरान मृतका के गले पर हाथों से दबाए जाने के निशान बने हुए थे। महिला के शरीर भी निशान मिले हैं। हत्या को लूट की शक्ल देने की कोशिश

हत्यारोपितों ने पुलिस की जांच को भटकाने की पूरी तैयारी कर रखी थी। उन्होंने वारदात को लूट की शक्ल देने की कोशिश की थी, लेकिन पुलिस ने शुरुआती जांच के बाद ही लूट की थ्योरी को सिरे से खारिज कर दिया। हालांकि घर का सारा सामान बिखरा हुआ था। आरोपितों ने घर में रखे बक्से खोल कर सामान बिखेर दिया था, लेकिन महिला की सोने की चेन बिस्तर पर ही पड़ी हुई थी। दो दिन पहले गई थी भाई-बहन के घर, रविवार शाम को लौटी थी

बलबीर कौर के भाई बलविदर सिंह ने बताया कि मृतका पांच भाई बहनों में तीसरे नंबर की थी। शनिवार सुबह बलबीर कौर अपने गंडी पिड स्थित भाई के घर गई थी, जहां दो घंटे रुकने के बाद वह शेरा पिड स्थित अपनी बहन के घर आ गई थी। वहां रात भर रुकने के बाद वह रविवार देर शाम अपने संत विहार स्थित अपने घर पर लौट आई थी। घर से 300 मीटर दूरी पर मिली शराब की खाली बोतलें और ग्लास

मृतका के एक करीबी रिश्तेदार का अपने ससुरालियों के साथ कोर्ट में केस चल रहा था। इसमें मृतका अपने रिश्तेदार की मदद कर रही थी। इसे लेकर महिला के रिश्ते उनसे अच्छे नहीं थे। सीसीटीवी की जांच के दौरान पुलिस को घटनास्थल से करीब तीन सौ मीटर दूरी पर कुछ सुबूत हाथ लगे हैं। मौके पर जब फिगर प्रिट एक्सपर्ट की टीम पहुंची तो उन्हें वहां से कुछ शराब की खाली बोतलें और ग्लास भी मिले। पड़ोसियों के लिए बयान, घर आने वालों का पता लगा रही पुलिस

घटना की जानकारी के बाद मौके पर डीसीपी गुरमीत सिंह, एडीसीपी सोहेल कासिम मीर, एसीपी सुखजिदर सिंह, थाना प्रभारी रश्मिंदर सिंह समेत भारी पुलिस बल मौजूद रहा। इसके साथ ही डाग स्क्वायड और फिगर प्रिट एक्सपर्ट भी मौके पर पहुंचे। पुलिस ने आसपास रहने वाले लोगों के बयान भी दर्ज किए हैं। डीसीपी गुरमीत सिंह ने बताया कि हालात सीधे तौर पर हत्या का इशारा कर रहे हैं। इस बात का भी पता लगाया जा रहा है कि मृतका के घर पर किसका आना-जाना था। जल्द ही आरोपितों का पता लगा लिया जाएगा।

Edited By: Jagran