जागरण संवाददाता, जालंधर शुक्रवार को नगर निगम के वाटर सप्लाई एंड सीवरेज बोर्ड के अधिकारियों की खूब क्लास लगी। विभाग के अधिकारियों की ओर से इस विलाीय वर्ष के 35 करोड़ रुपये के टारगेट के मुकाबले अभी तक केवल 13 करोड़ रुपये का ही राजस्व जुटाया गया है। ज्वाइंट कमिश्नर गुर¨वदर कौर रंधावा ने अधिकारियों को टारगेट पूरा न कर पाने पर निगम को विलाीय घाटा पहुंचाने के मामले में विभागीय कार्रवाई की भी चेतावनी दी। नगर निगम के उच्च पदस्थ सूत्रों के मुताबिक शुक्रवार को ज्वाइंट कमिश्नर गुर¨वदर कौर रंधावा की ओर से वाटर सप्लाई एंड सीवरेज बोर्ड के अधिकारियों की समीक्षा बैठक ली गई। इस दौरान ज्वाइंट कमिश्नर की ओर से विभाग को अब तक शहर के लोगों से वाटर सप्लाई एवं सीवरेज के एवज में मिलने वाले राजस्व की जानकारी मांगी। बैठक में मौजूद विभाग के सुपरिंटेंडेंट राज कुमार एवं अन्य अधिकारियों की ओर से बताया गया कि विभाग को 31 जनवरी तक केवल 13 करोड़ छह लाख रुपये का ही राजस्व प्राप्त हुआ है। विभाग की कार्यप्रणाली से असंतोष जताते हुए ज्वाइंट कमिश्नर ने अधिकारियों को खूब खरी-खोटी सुनाई। ज्वाइंट कमिश्नर ने अधिकारियों से स्पष्ट कहा कि अगर 31 मार्च से पहले नगर निगम प्रशासन की ओर से तय किए गए 35 करोड़ रुपये के टारगेट को पूरा नही किया गया तो जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई तय है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!