जासं, जालंधर : कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए सेहत विभाग ने सिविल अस्पताल में बने मॉडल नशा छुड़ाओ केंद्र को आइसोलेशन वार्ड में तब्दील कर दिया है।

मंगलवार को सिविल सर्जन डॉ. गुरिदर कौर चावला ने स्मार्ट सिटी इंचार्ज एवं पुडा की चीफ एडमिनिस्ट्रेटिव सिना अग्रवाल की प्रधानगी में आयोजित बैठक के दौरान यह जानकारी दी। डॉ. चावला ने बताया कि मॉडल नशा छुड़ाओ केंद्र में 50 बेड का आइसोलेशन वार्ड बनाया गया है। नशा छुड़ाओ केंद्र शहीद बाबू लाभ सिंह सिविल अस्पताल नर्सिंग स्कूल में शिफ्ट कर दिया गया है। बैठक में पिम्स अस्पताल को आइसोलेशन वार्ड बनाने पर विचार किया गया। बैठक में डॉ. टीपी सिंह, डॉ. सीमा, डॉ. सुरिन्दर कुमार, डॉ. सुरिन्दर नांगल, डॉ. ज्योति शर्मा, डॉ. कश्मीरी लाल, डॉ. शोभना बंसल तथा किरपाल सिंह मौजूद थे।

------

नशे से पीड़ित मरीजों को दो सप्ताह दी दवा देने के आदेश

जालंधर: सेहत मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने नशा छोड़ने का ईलाज करवाने वाले पंजीकृत मरीजों को दो सप्ताह की दवा घर ले जाने के आदेश जारी किए है। राज्य के 198 ओट्स सेंटर क्लीनिक, 35 सरकारी नशा छुड़ाओं केंद्र तथा 108 निजी नशा छुड़ाओ केंद्रों में मनोचिकित्सक डाक्टर की ओर से मूल्याकंन करने के बाद दवा घर देने की हिदायतें दी गई है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!