जागरण संवाददाता, जालंधर। मेरिटोरियस स्कूलों के शिक्षक रेगुलर करने की मांग को लेकर बुधवार को शिक्षा मंत्री की कोठी का घेराव करेंगे। यह शिक्षक 2014 से स्कूलों में अपनी सेवाएं दे रहे हैं और अपनी सेवाओं के बदले लगातार प्रदेश सरकार से रेगुलर करने की मांग कर रहे है। राज्य में मेधावी विद्यार्थियों को रेजिडेंशियल स्कूल की निश्शुल्क सुविधा देने के लिए मेरिटोरियस स्कूलों को खोला गया था। तब इन शिक्षकों को कांट्रेक्ट बेस पर ही रखा था। मगर वे निरंतर रेगुलर करने की मांग कर रहे हैं। यही कारण है कि अब इसे लेकर राज्य भर के सभी स्कूलों के शिक्षक जालंधर में शिक्षा मंत्री की कोठी का घेराव करेंगे। राज्य भर के स्कूलों के बाहर भी शिक्षक निरंतर उक्त मांग को लेकर प्रदर्शन करते रहे हैं।

शिक्षकों का कहना है कि वे निरंतर विद्यार्थियों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने में अपना अहम योगदान दे रहे हैं, जिसके परिणाम के तौर पर विभाग के पास मैरिट में आने वाले विद्यार्थियों की अच्छी खासी लिस्टें भी हैं। यही नहीं कई तरह की प्रतियोगी परीक्षाओं में विद्यार्थियों को उत्तीर्ण करवाने के लिए भी वे दिनरात मेहनत कर रहे हैं। उनकी तरफ से विद्यार्थियों की बेहतरी के लिए कोई भी कमी नहीं छोड़ी गई, इसलिए अब सरकार उनकी भी बेहतरी के लिए आगे आए। शिक्षकों ने बताया कि उनकी इस मांग के पूरा होने से उनका हौसला भी दोगुना होगा। जिससे वे पहले से और ज्यादा मेहनत विद्यार्थियों पर करेंगे और अच्छे ही नतीजे मिलेंगे।

ये भी पढ़ेंः Robbery In Jalandhar : रामामंडी लूटकांड मामले में कई संदिग्धों से पूछताछ जारी, 24 घंटे बाद भी पुलिस के हाथ खाली

Edited By: Vinay Kumar