जालंधर [शाम सहगल]। पति की दीर्घायु के लिए करवाचौथ का व्रत इस बार काफी खास होगा। इस पवित्र पर्व का फल नवविवाहितों के लिए काफी लाभदायी होगा। कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी के दिन इस व्रत को लेकर सुहागिनों के लिए शुभ संयोग भी बन रहा है। जिसके तहत रोहिणी नक्षत्र के साथ मंगल योग सुहागिनों को दोहरा फल देगा।

इस बारे में विस्तार से श्री मेला राम मंदिर के प्रमुख पुजारी व ज्योतिषाचार्य पंडित भोलानाथ द्विवेदी बताते हैं कि यह संयोग करीब सात दशक बाद बन रहा है। इस दिन चतुर्थी माता तथा भगवान गणेश की पूजा करने से सामान्य दिन में ही पुण्य फल मिलता है। जबकि इस बार सुहागिनों का खास दिन करवाचौथ है। जिससे उन्हें इस पुण्य कार्य का निश्चित रूप से दोहरा फल मिलेगा। हिंदू धर्म शास्त्रों के मुताबिक इस दिन सुहागिनें उपवास रखकर पति की दीर्घायु की कामना करती हैं जिससे उनका गृहस्थ जीवन भी सुखद होता है।

पंडित प्रमोद शास्त्री के मुताबिक इस दिन भगवान शिव, माता पार्वती तथा भगवान श्री गणेश की पूजा करनी चाहिए। करवाचौथ की व्रत की कथा सुनने के बाद यह पूजा फलदाई होती है। 13.15 घंटे रहेगा व्रत करवाचौथ का व्रत इस बार 13.15 घंटे तक चलेगा। कारण, शहर में चांद का दीदार 8:16 बजे होगा। जिसे अ‌र्घ्य देकर ही सुहागिनें व्रत संपन्न करती हैं। जबकि बाद दोपहर व्रत की पूजा की जा सकती है।

पूजा का समय

सरगी का मुहुर्त : तड़के 6.35 बजे से पहले

कथा : दोपहर 3.02 से 4.27 बजे तक।

चन्द्र दर्शन : रात 8.16

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!