जलालाबाद/फरीदकोट, जेएनएन। शहर में देर रात बड़ा हादसा हो गया। पीएनबी चौक के निकट देर रात्रि  एक चलती मोटरसाइकिल की टंकी फट गई। इससे मोटरसाइकिल में आग ल्रग गई और उसे चला रहा व्यक्ति बुरी जिंदा जल गया। मृतक की पहचान फिरोजपुर के गांव झुगे निहंगा सिंह के रहने वाले बलविंदर सिंह उर्फ बिंदा के रुप में हुई है। पुलिस ने उसके मोबाइल से सिम कार्ड निकालकर दूसरे फोन में प्रयोग करके उसकी पहचान की। पूरे मामले में सुरक्षा एजेंसियां सतर्क हो गई हैं और मामले की सभी पहलुओं से जांच की जा रही है।

आसपास मौजूद लोगों के अनुसार मोटरसाइकिल की टंकी फटने के बाद बाइक और उसके सवार जलने लगे। लोगों ने आग को किसी तरह बुझाया, लेकिन तब तक बाइक सवार व्‍यक्ति वह बुरी तरह से जल चुका था। उसे जलालाबाद के सरकारी अस्पताल में ले जाया गया। वहां डाक्टरों ने गंभीर हालत के चलते उसे फरीदकोट मेडिकल कालेज रेफर कर दिया। बाद में उसने दम तोड़ दिया। बाइक बुरी तरह क्षतिग्रस्‍त हो गई।

 मौके पर मौजूद लोगों ने बताया कि मोटरसाइकिल पर जा रहे व्यक्ति के मोटरसाइकिल में अचानक धमाका हुआ, जिससे आग लग गई। अचानक लगी आग से मोटरसाइकिल सवार को बचाव का मौका नहीं मिला और वह बुरी तरह झुलस गया। मौके पर पुलिस पहुंची तो युवक बेहोश पड़ा था। तुरंत उसे एंबुलेंस की मदद से जलालाबाद के सरकारी अस्पताल में ले जाया गया, जहां डाक्टरों ने गंभीर हालत के चलते फरीदकोट रेफर कर दिया है।

पुलिस अमृतसर में आतंकियों के पकड़े जाने के बाद जारी हाई अलर्ट के एंगल को ध्यान में रखते हुए मामले की जांच कर रही है। डीएसपी पलविंदर सिंह के अनुसार बलविंदर सिंह नजदीकी रिश्तेदारी में अपनी बहन से मिलने गांव धर्मुवाला जा रहा था। घटनास्थल से एक और बाइक भी मिला है। डीएसपी के अनुसार वह बाइक मारे गए व्‍यक्ति के बुआ के बेटे का है लेकिन वह अभी तक सामने नहीं आया है।

घटना के बाद एसएसपी फाजिल्का दीपक हिलोरी, डीएसपी पलविंदर सिंह ने घटनास्थल का जायजा लिया। फिरोजपुर से फारेंसिक टीम को भी बुलाया गया और टीम जांच में जुट गई है।फरीदकोट मेडिकल अस्पताल ले जाए गए बलविंदर सिंह की हालत बेहद नाजुक थी। ब्लास्ट के कारण शरीर का अधिकांश हिस्सा जल चुका था और कुछ अंग गायब थे। डाक्टरों के अनुसार कुछ समय बाद उसकी मौत हो गई।

शिअद अध्यक्ष सुखबीर बादल का हलका है जलालाबाद

जलालाबाद शिअद अध्यक्ष सुखबीर बादल का विधानसभा क्षेत्र रहा है। लोकसभा चुनाव से पहले वह जलालाबाद से विधायक थे और और अब अगले साल होने वाले चुनाव में शिरोमणि अकाली दल के उम्मीदवार हैैं।

सुरक्षा एजेंसियों ने अप्रिय घटना की जताई थी आशंका

भारत-पाकिस्तान बार्डर से सटे पंजाब के हिस्से में पिछले कुछ समय से बढ़ी पाकिस्तान की ड्रोन सक्रियता से अप्रिय घटना घटित होने के इनपुट राज्य व केंद्र की सुरक्षा एजेंसियों की तरफ से सांझा किए जा रहे थे। सुरक्षा एजेंसियां बुधवार को फाजिल्का जिले के जलालाबाद में मोटरसाइकिल की टंकी फटने से हुए ब्लास्ट में घटना को इसी से जोड़कर देख रही हैं।उधर, जलालाबाद घटना में जो मोटरसाइकिल शामिल रहा है, उसके मालिक सुक्खा सिंह फिरोजपुर जिले के चांदीवाला गांव का रहने वाला है। यह गांव दो तरफ से भारत-पाकिस्तान बार्डर और तीसरी ओर सतलुज दरिया से घिरा हुआ है।

जिंदा जलकर मरे बलबिंदर सिंह का गांव झुग्गे निहाला सिंह वाला भी सतलुज दरिया से घिरे होने के साथ ही सरहदी गांव है। सतलुज दरिया के किनारे वाले बार्डर के पास स्थित यह गांव नशा तस्करी के लिए पहले ही कुख्यात रहे हैं। इन दोनों गांवों के साथ ही इनसे सटे दूसरे गांवों से पाकिस्तान से नशे से तस्करी करने वाले कई तस्करों को पुलिस ने पकड़ा है। इनका संबंध हेरोइन तस्करी के साथ हथियारों की तस्करी से भी रहा है।

पुलिस जब कभी भी अवैध नशे के विरूद्ध अभियान चलाती है, तो उसके निशाने पर दरिया किनारे बसे यह गांव होते हैं। यहां से पुलिस को बड़ी कामयाबी भी मिलती है। फिरोजपुर स्थित केंद्रीय सुरक्षा एजेंसी के एक अधिकारी ने बताया कि बुधवार की दोपहर ही कुछ ऐसे इनपुट मिले थे, जिसमें जलालाबाद जैसी घटना घटित होने का अंदेशा जताया गया था। हालांकि अब यह जांच का विषय है कि जलालाबाद में घटित हुई घटना प्रयोजित थी, या फिर घटना का और कारण। हालांकि पाकिस्तान की ओर से आबादी रहित सूनसान हिस्सों में ड्रोन की सक्रियता निश्चित रूप से तस्करी के अलावा दूसरी बड़ी साजिश की ओर इशारा कर रही है।

पुलिस ने जेसीबी से खुदवा डाला था तस्कर का घर

झुग्गे निहाल सिंह वाला के पास स्थित सतलुज दरिया व बार्डर से घिरा गांव निहाला किलचा है, इस गांव का एक परिवार पर पाकिस्तान से हथियार व हेरोइन तस्करी के आरोप लगे हैं। हेरोइन व हथियार की बरामदगी के लिए पुलिस ने चार साल पहले तस्कर का घर जेसीबी मशीन से खुदवा डाला था।

 

Edited By: Sunil Kumar Jha