मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जालंधर [मनुपाल शर्मा]। केंद्र सरकार द्वारा पेट्रोल-डीजल पर प्रति लीटर ढाई रुपये की कटौती पंजाब को मौजूदा वित्त वर्ष के दौरान 500 करोड़ रुपये का नुकसान करेगी। बेस प्राइस पर कीमतों में कटौती से पंजाब का वैट कलेक्शन प्रभावित होगा जिससे यह नुकसान उठाना पड़ेगा।

पंजाब में पेट्रोल के बेस प्राइस के ऊपर केंद्र की तरफ से लगाई जाने वाली एक्साइज ड्यूटी को मिलाकर बनने वाले रेट के ऊपर 34.86 फीसद वैट वसूला जाता है। जब तेल के बेस प्राइस और एक्साइज ड्यूटी मिलाकर बनने वाले रेट में ढाई रुपये प्रति लीटर की कटौती होगी तो जाहिर सी बात है कि इससे पंजाब की वैट कलेक्शन अपने आप कम हो जाएगी।

केंद्र की राहत के बावजूद पंजाब में पेट्रोल और डीजल के रेट पड़ोसी राज्यों की तुलना में ज्यादा ही बने रहेंगे। कारण यह है कि हरियाणा एवं हिमाचल प्रदेश ने केंद्र की तर्ज पर अपने-अपने राज्यों में भी वैट में ढाई रुपये अतिरिक्त कटौती करने की घोषणा कर दी है। इससे इन दोनों राज्यों व पंजाब की कीमतों में अंतर और बढ़ जाएगा जिससे पंजाब की बिक्री ज्यादा प्रभावित होगी।

पेट्रोल पंप डीलर्स एसोसिएशन (पीपीडीए) पंजाब के अध्यक्ष परमजीत सिंह दोआबा ने कहा है कि जब तक पेट्रोल डीजल की बिक्री पर वन नेशन वन रेट का सिद्धांत लागू नहीं होता, तब तक तक देश भर के राज्यों में तेल की बिक्री वैट की अलग-अलग दरों के चलते प्रभावित होती रहेगी। पीपीडीए के प्रवक्ता मोंटी गुरमीत सहगल ने कहा कि पंजाब को तेल की कीमत की बजाए प्रति लीटर वैट में कटौती करनी होगी। पंजाब को मौजूदा हालात के मद्देनजर पेट्रोल डीजल पर प्रति लीटर कम से कम 10 रुपये की छूट देनी होगी।

पंजाब सरकार हरियाणा, हिमाचल व चंडीगढ़ जितना वैट लगाए

मोंटी गुरमीत सिंह ने कहा कि पिछले दिनों पंजाब समेत उत्तर क्षेत्र के कई राज्यों ने वैट कलेक्शन को लेकर समानता रखने की जरूरत तो महसूस की है लेकिन उन्हें नहीं लगता कि इसमें पंजाब को ज्यादा सफलता मिल पाएगी। कारण यह है कि पंजाब में पेट्रोल पर ज्यादा वैट ने हरियाणा को दो हजार करोड़ की अतिरिक्त आमदनी करवाई है।

उन्होंने कहा कि अभी भी पंजाब सरकार को राज्य की जनता के आर्थिक हालात के मद्देनजर वैट कलेक्शन हरियाणा, हिमाचल व चंडीगढ़ के समान करने की घोषणा कर देनी चाहिए। अगर ऐसा नहीं किया जाता है तो पंजाब में पेट्रोल डीजल की बिक्री और नीचे आएगी और पड़ोसी राज्य आर्थिक तौर पर भी पेट्रोलियम उत्पादों की बिक्री में पंजाब को भारी नुकसान पहुंचाएंगे।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Kamlesh Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!