जागरण संवाददाता, जालंधर : पंचायत चुनाव में बांटने के लिए अंबाला से ट्रक में लाई शराब को फिल्लौर पुलिस ने जब्त कर लिया है। ट्रक से 650 पेटियां यानि 7800 बोतलें शराब बरामद की गईं। यह बरामदगी फिल्लौर के सतलुज पुल पर लगाए हाईटेक नाके के दौरान हुई। पुलिस ने भी माना कि इतनी बड़ी मात्रा में यह शराब पंचायत चुनाव के दौरान वोटरों में बांटने के लिए ही लाई गई थी, हालांकि अभी अफसर खुलकर इसकी पुष्टि नहीं कर रहे। एसएसपी नवजोत माहल ने इतना जरूर कहा कि इस तथ्य को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता।

एसएसपी माहल ने बताया कि फिल्लौर के एसएचओ एसआई जतिंदर कुमार ने एंटी नारकोटिक्स सेल के साथ मिलकर नाकाबंदी कर रखी थी। इसी दौरान लुधियाना की तरफ से आते ट्रक नंबर एमपी 51बी-0968 की तलाशी ली गई तो उसके अंदर से 500 पेटी शराब मार्क पार्टी स्पेशल व्हीस्की व 150 पेटी क्रेजी रोमियो ब्रांड की बरामद हुई। बोतलों पर 'ओनली सेल फॉर अरुणाचल प्रदेश' लिखा हुआ है। पुलिस ने ट्रक ड्राइवर स्वर्ण सिंह चवाल पुत्र बलवीर सिंह चवाल निवासी प्लाट नंबर 3, लश्करी बाग नागपुर (महाराष्ट्र) को गिरफ्तार कर लिया, जो अब मुंबई में ही त्रिभुवन हाउसिंग सोसाइटी न्यू रोड गुरुनानक नगर थाना जरी बटखा में रहता है। उसके खिलाफ थाना फिल्लौर में आबकारी एक्ट का केस दर्ज कर लिया गया है।

पुलिस को चकमा देने की थी तैयारी

पुलिस को चकमा देने के लिए शराब तस्करों ने पूरी तैयारी कर रखी थी। इसी वजह से शराब लाने के लिए ट्रक मध्य प्रदेश के नंबर वाला लिया गया जबकि उसमें शराब हरियाणा के अंबाला से लादी गई। ड्राइवर महाराष्ट्र का था ताकि ऊपरी जांच में ट्रक में शराब होने के बारे में पुलिस को अंदाजा न लग सके।

मोबाइल नंबर से चल रहा था तस्करी का खेल

पुलिस जांच में यह भी खुलासा हुआ है कि अंबाला से शराब जालंधर तक पहुंचाने का पूरा खेल मोबाइल से चल रहा था। ड्राइवर ने पूछताछ में बताया कि उसे एक ढाबे में ट्रक की चाबी पकड़ाई गई थी। फिर उसे कहा गया था कि जालंधर में उसे फोन आएगा और वो ट्रक उन्हें देकर आ जाए। इस काम के लिए उसे 10 हजार रुपये देने थे। इससे पहले ही वो पकड़ा गया।

ट्रक के पीछे गाड़ी में आ रहे थे तस्कर

शराब बरामदगी के बाद पुलिस ने ट्रक को थाने ले जाने के बजाय पास में ही एक प्राइवेट होटल के अंदर बंद कर दिया। इस बारे में एसएचओ जतिंदर कुमार से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि शराब तस्कर भी ट्रक के पीछे-पीछे दूसरी गाड़ी में आ रहे थे। जब उन्हें इसका पता चला तो ट्रक को पकड़ने के बाद एक होटल के अंदर खड़ा कर दिया गया। उन्हें पकड़ने के लिए पुलिस ने यह ट्रैप लगाया था लेकिन उन्हें पुलिस की भनक लग गई और वे लौट गए। उसके बाद ट्रक से शराब को पुलिस कस्टडी में रखवा दिया गया।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!