जालंधर, जेएनएन। पंजाब में लोहड़ी पर्व पर पतंगबाजी कई जगह लोगों को भारी पड़ गई। युवाओं ने पतंगबाजी के खुमार में खुद के साथ-साथ अन्‍य लोगों की जिंदगी भी खतरे में डाल दी। अमृतसर में पतंगबाजी के दौरान छत से गिर जाने के कारण एक बच्‍चे की माैत हो गई। पाबंदी के बावजूद चाइनीज डोर से जमकर पतंगबाजी हुई। इसके कारण कई दुर्घटनाएं हुईं और इसमें सैकड़ों लोग घायल हो गए। किसी का गला और गाल तो किसी का कान कट गया।

पतंगबाजी के दौरान लुधियाना में ही हादसों में 33 से ज्यादा लोग घायल हुए। कपूरथला में चाइना डोर ने 50 लोगों को घायल कर दिया। यहां एक बच्चा करंट लगने से झुलस गया आैर दो युवक छत से गिर गए। अमृतसर में एक बच्चे की छत से गिरने से मौत गई अौर करीब 24 लोग जख्मी हो गए। पठानकोट में पतंगबाजी के दौरान चाइनीज डोर जगह-जगह बिजली के तारों में उलझ गई। इस कारण शहर में 35 बार बत्ती गुल हो गई। वहीं, गुरदासपुर में पतंग उड़ाते समय हुए झगड़े में युवकों पर गोलियां चला दी गईं। घटना में चाल लोग घायल हो गए।

लुधियाना

सिविल अस्पताल में भर्ती 76 वर्षीय परमेश्वर सिंह ने बताया कि वह जब दाना मंडी से पैदल घर लौट रहे थे तो सड़क पर गिरे चाइना डोर के गुच्छे में उनका दायां पैर फंस गया। इसी दौरान वहां एक बाइक सवार वहां से गुजरा और डोर के एक छोर को खींचकर साथ ले गया। इससे परमेश्वर सिंह गंभीर रूप से घायल हो गए। 

जनकपुरी निवासी 25 वर्षीय राम शरणम की उंगली भी चाइना डोर की वजह से कट गई। राम फील्डगंज में कुछ खरीदने के लिए जा रहा था। तभी उसका पैर भी सड़क पर गिरे चाइना डोर के गुच्छे में उलझ गया। गुच्छे से पैर निकालते वक्त राम की उंगली कट गई। उन्हें सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया गया।

गुरु अर्जुन देव नगर में आठ साल के सूरज कुमार के हाथ पर उस वक्त कट लग गया, जब वह सड़क पर कटी हुई पतंग को पकड़ रहा था। वहीं पेशावर सिंह, उपकार नगर के 11 वर्षीय नितेश कुमार और मॉडल टाउन के संजीव कुमार को भी चाइना डोर ने जख्मी कर दिया। इनमें से एक के पांव की हड्डी टूट गई है।

सीएमसी में आए नौ मरीज : सीएमसी अस्पताल में चाइना डोर से घायल होकर नौ मरीज पहुंचे। आठ मरीजों की नाक व माथे पर कट लगे थे। एक मरीज शिवम चाइना डोर से पतंग उड़ाते समय छत से गिर कर घायल हो गया।

पुल पर गले में लिपटी डोर, दूसरे के नाक पर लगा कट
डीएमसी अस्पताल में भी चाइना डोर से घायल होकर दो लोग पहुंचे। प्लास्टिक सर्जरी विभाग के प्रमुख डॉ. संजीव उप्पल के अनुसार एक युवक के गले पर गहरा घाव हुआ। युवक हैबोवाल से दोस्त के घर जा रहा था। जगराओं पुल पर पहुंचा, तो उसके गले में डोर उलझ गई और जख्म हो गया। दूसरे युवक के चाइना डोर से नाक पर कट लगा। शहर के छोटे अस्पतालों व नर्सिग होमों में भी 12 से अधिक लोग चाइना डोर से घायल होकर इलाज के लिए पहुंचे।



समराला

चंडीगढ़ रोड पर मेन बाजार में चाइना डोर से दो बाइक सवार गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें यहां के सर्जीकल अस्पताल में भर्ती करवाया गया। इलाज के बाद दोनों घायलों को छुट्टी दे दी गई। घायलों की पहचान बलजिंदर सिंह और अमरजीत सिंह निवासी समराला के तौर पर हुई। बलजिंदर के गले पर छह टांके और अमरजीत की ठुडी पर 12 टांगे लगे हैं।

अमृतसर

जंडियाला गुरु के गांव बालिया मंझपुर में पतंग लूट रहे एक सात वर्षीय बच्चे की छत से गिरकर मौत हो गई। विराज के पिता चरणजीत सिंह ने बताया कि वह अपने घर की छत पर खड़ा था। इस दौरान एक पतंग कटकर उनकी छत की ओर आई। विराज ने पतंग की डोर पकड़ने का प्रयास किया पर संतुलन खो बैठा। उसका पैर फिसला और छत से गिर गया। श्री गुरु रामदास अस्पताल वल्ला में उसे मृत घोषित किया था। वहीं, अमृतसर में छत पर पतंग उड़ा रहा 11 वर्षीय बच्चा शिवम छत से गिर गया। उसके दाहिने हाथ की दोनों हड्डियां, दांत तथा जांघ की हड्डी टूट गई।

कपूरथला
अमृतसर रोड पर कटी हुई पतंग लूटने के दौरान युवक 20 वर्षीय शाहिद चाइना डोर के कारण करंट की चपेट में आ गया। उसे सिविल अस्पताल में दाखिल करवाया गया है। उसके हाथ में 40 टांके लगाए गए हैं। सिर पर भी गंभीर चोट आई है। यहां पतंगबाजी में कुल 20 लोग घायल हुए हैं।

बटाला (गुरदासपुर)

पतंगबाजी को लेकर हुई बहस के बाद उमरपुरा में कुछ युवकों ने गोलियां चला दी। इसमें सुखजिंदर सिंह, यूनिस, पाल सिंह, जसप्रीत सिंह घायल हो गए। जसप्रीत के पिता निशान सिंह ने बताया कि वे अपने दोस्तों के साथ पतंगबाजी कर रहे थे। कुछ अज्ञात युवकों ने पहले उनके साथ बहस की और बाद में बुलेट पर सवार होकर आए और छह गोलियां चला दीं।

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!