करतारपुर, [दीपक कुमार]। जालंधर के करतारपुर के मानव फुल ने फिनलैंड के जिला वांता में एनसीपी की ओर से चुनाव में विजय हासिल कर असेंबली में पहुंचने वाले पहले भारतीय बनने का गौरव हासिल किया। इस जीत के बाद करतारपुर में उनके परिवार में खुशी की लहर है। सभी ने एक-दूसरे को मिठाई खिलाकर बधाई दी।

फिनलैंड के जिला वांता से विजयी होकर असेंबली पहुंचे करतारपुर के मानव फुल ने बताया कि उन्होंने अपना बचपन और जवानी करतारपुर में गुजारी। डीएवी हाई स्कूल जालंधर में शिक्षा प्राप्त की। वह साल 2002 में स्टूडेंट वीजा पर फिनलैंड पहुंचे और यहां कड़ी मेहनत करते हुए 3-3 जॉब के साथ शिक्षा भी ग्रहण की। उन्होंने बताया कि एक समय उनको खाने के भी लाले पड़ गए थे। लेकिन पंजाबी कभी हार नहीं मानते। फिनसैंट में रहते हुए 20 वर्ष गुजर चुके हैं और उनकी मेहनत के बदौलन वे तीन होटलों के मालिक हैं। फुल ने बताया कि साल 2005 में उनकी शादी हुई। उनकी पत्नी अध्यापिका है और एक बेटा और बेटी है।

करतारपुर में मानव फुल के असेंबली में पहुंचने पर परिवार के सदस्य मिठाई खिलाकर एक दूसरे को बधाई देते हुए।

10 वर्षों से राजनीतिक में सक्रिय

फुल फिनलैंड के जिला वांता में 10 वर्षों से सक्रिय राजनीति में हैं और वहां की ऑल इंडिया कल्चरल सभा के प्रधान भी हैं। हर वर्ष दीपावली एवं इंडिया डे पर बड़े कार्यक्रम का आयोजन भारतीय एंबेसी के सहयोग से किया जाता है|

24 प्रतिशत वोट लेकर जीत का झंडा लहराया

मानव फुल ने बताया कि उन्होंने एनसीपी (नेशनल कोलिशन पार्टी) की ओर से चुनाव लड़ा। उनकी पार्टी के 18 उम्मीदवार विजयी हुए। उनमें वह एकमात्र भारतीय हैं। उन्होंने 24 प्रतिशत वोट हासिल कर विजय हासिल किए। इस चुनाव में कुल 67 उम्मीदवार विजय होकर असेंबली में पहुंचे हैं|

अब पार्लियामेंट में झंडा लहराने का लक्ष्य

मानव फुल ने बताया कि उनका लक्ष्य आगामी पार्लियामेंट चुनाव में विजय हासिल कर भारत का नाम रोशन करना है। उन्होंने इस जीत को भारतवासियों की जीत बताया|

करतारपुर में जीत का जश्न

करतारपुर के मानव फुल के परिवारिक सदस्यों एवं करतारपुर वासियों में उनकी जीत को लेकर खुशी की लहर है। सभी ने इस जीत पर एक दूसरे को बधाई दी तथा मिठाई खिलाकर मुंह मीठा करवाया। इस मौके पर सुदर्शना रानी फुल सीपी फुल, मनु फुल, पूजा फुल, के अलावा दोस्तों ने भी जीत में भंगड़ा डाला।

Edited By: Vikas_Kumar