जालंधर [मनुुुुुपाल शर्मा]। पिता की तरह टफ मैन बनना चाहते हो या रोमांटिक हीरो। करण आप बहुत स्वीट हो और उसके बाद दर्शकों में से आई एक आवाज, आई लव यू करण। इसके बाद 20 सितंबर को रिलीज होने जा रही पल पल दिल के पास से डेब्यू कर रहे करण देयोल शरमा जाते हैं और मुंह पर हाथ भी रख लेते हैं। कुछ पल रुकने के बाद फिर से जवाब देते हैं। आई लव यू टू और उसके बाद दर्शकों से खचाखच भरा शहीद उधम सिंह नगर स्थित के एल सहगल मेमोरियल हॉल तालियों की गडग़ड़ाहट से गूंज उठता है। फिल्म की हिरोइन सहर यूं तो हिमाचल प्रदेश की शिमला से संबंधित है, लेकिन दिल्ली में रहती हैै।

जागरण फिल्म फेस्टिवल जेएफएफ के तीसरे एवं अंतिम दिन रविवार को करण देयोल अपने पिता सनी देयोल एवं फिल्म की हीरोइन सहर के साथ दर्शकों के रूबरू थे। पल-पल दिल के पास फिल्म की शूटिंग के पहले दिन को याद करते हुए करण और सहर ने बताया कि वह पहले ही शॉट को कई बार रिटेक करने के बाद भी ओके नहीं करवा सके थे और रो दिए थे। हालांकि अगले ही दिन से सब कुछ ठीक-ठाक हो गया था, लेकिन पहला शॉट ओके करवाने में लंबी जद्दोजहद करनी पड़ी।

सनी ने फिल्म के लिए सिलेक्ट कर लिया, यही बड़ी उपलब्धि

फिल्म में हुई अपनी सिलेक्शन की प्रक्रिया के बारे सहर ने बताया कि वह दिल्ली से मुंबई हिरोइन बनने के लिए ही पहुंची थी लेकिन सात आठ माह तक उन्हें कोई काम नहीं मिल सका था। इसी दौरान पल-पल दिल के पास की कास्टिंग शुरू हुई तो सनी देयोल ने उन्हें फिल्म के लिए सिलेक्ट कर लिया। सहर बताती हैं कि सनी देओल की तरफ से उन्हें सिलेक्ट किया जाना ही अपने आप में एक बड़ी उपलब्धि थी।

करण ब्रिटिश मां का बेटा, अब पंजाब में भी रहूंगा

ऑडियंस ने जब करण से पंजाबी में बात करने को कहा तो सनी देयोल ने हस्तक्षेप करते हुए बताया कि करण की मां ब्रिटिश है और करण खुद भी इंग्लैंड में ही पढ़े लिखे हैं। इस कारण पंजाबी नहीं बोल पाते हैं। सनी देओल ने कहा कि फिल्म की शूङ्क्षटग के दौरान करण हिमाचल में रहे हैं और अब उन्हें पंजाब में भी रहेंगे ताकि वह पंजाबी जान सकें।

पापा को फिल्म से जोड़ने के लिए फिल्म का नाम रखा पल-पल दिल के पास

फिल्म के नाम को लेकर एक सवाल के जवाब में सनी बताते हैं कि फिल्म का नाम काफी सोचने के बाद रखा। वह चाहते थे कि किसी न किसी प्रकार फिल्म के साथ तीनों पीढ़ी को जोड़ा जाए। नतीजतन उन्होंने अपने पिता धमेन्द्र की फिल्म के हिट गीत पल-पल दिल के पास गीत को ही अपने बेटे को लांच करने की फिल्म का नाम दे दिया।

सनी बताते हैं कि फिल्म के लिए पहले उन्होंने काफी समय तक अच्छे निर्देशक की तलाश की, लेकिन काफी तलाशने के बाद उन्होंने फैसला किया कि वह बेटे की फिल्म खुद ही बनाएंगे। इससे पहले सनी दो फिल्में दिल्लगी व घायल रिटर्नस बना चुके हैं। यह उनकी तीसरी फिल्म होगी।

कैमरे के आगे बड़े बड़ों के पसीने निकल जाते हैं: सनी देयोल

शूटिंग के दौरान कैमरे के आगे बड़े बड़ों के पसीने निकल जाते हैं। सनी देयोल का यह तर्क अपने बेटे करण देयोल की शूटिंग के दौरान हुए अनुभव से निकला है। देयोल परिवार की दूसरी एवं तीसरी पीढ़ी रविवार को जालंधर के शहीद उधम सिंह नगर स्थित केएल सहगल मेमोरियल हॉल में रजनीगंधा के सहयोग से आयोजित दैनिक जागरण के 10वें जागरण फिल्म फेस्टिवल (जेएफएफ) के तीसरे एवं अंतिम दिन के मौके पर उपस्थित थी। 13 से 15 सितंबर तक चले 10वें जागरण फिल्म फेस्टिवल के दौरान लगभग 14 फीचर फिल्म प्रदर्शित की गईं और कई फिल्मों की स्टार कास्ट भी दर्शकों के रूबरू हुई।

दर्शकों से मुखातिब हुए सनी देयोल ने कहा की फिल्म पल पल दिल के पास की डायरेक्शन के दौरान भी सेट पर माहौल शांत रखने की कोशिश की, क्योंकि खुद एक एक्टर हूं और जानता हूं कि एक्टर के लिए दिमाग की कंसंट्रेशन बनाए रखना बेहद जरूरी होता है। इस मौके पर उनके साथ करण देयोल और फिल्म की अभिनेत्री सहर भी उपस्थित थीं। उन्होंने फिल्म की मेकिंग संबंधी दर्शकों की जिज्ञासा को शांत किया। इस मौके पर मौजूद दर्शकों ने देयोल परिवार की दो पीढिय़ों को इकट्ठा देख खूब इंजॉय किया। इस अवसर पर दैनिक जागरण ग्रेटर पंजाब के मुख्य महाप्रबंधक महेंद्र कुमार, पंजाब के महाप्रबंधक नीरज शर्मा, दैनिक जागरण के स्थानीय संपादक अमित शर्मा, वरिष्ठ समाचार संपादक विजय गुप्ता, पंजाबी जागरण के संपादक वङ्क्षरदर सिंह वालिया उपस्थित रहे।

जागरण फिल्म फेस्टिवल का आगाज शुक्रवार को 'चार साहिबजादे: द राइज ऑफ बंदा सिंह बहादुर' एनीमेशन फिल्म से हुआ था। फिल्म फेस्टिवल के पहले दिन का दूसरा आकर्षण टीवीएफ सीरीज कोटा फैक्ट्री फिल्म रहा जिसमें कोटा के कोचिंग सेंटर में देश के विभिन्न हिस्सों से कोचिंग के लिए आने वाले विद्यार्थियों की मनोस्थिति के बारे में बताया गया।

फिल्म फेस्टिवल के दूसरे दिन शनिवार को भारतीय हॉकी टीम के विश्व प्रसिद्ध खिलाड़ी संदीप सिंह पर बनी फिल्म सूरमा सहित कुल पांच फिल्में दिखाई गई। इनमें मशहूर अदाकार कादर खान को श्रद्धांजलि देती फिल्म कुली नंबर वन, पंजाबी फिल्म रिहा, चिंटू का बर्थडे और बंकर शामिल रहीं। रविवार को अंतिम दिन जागरण शॉट््र्स (आपके आ जाने से, द वॉल (दीवार), मिस्टर समबॉडी एवं आखिरी सलाम) आकर्षण का केंद्र बनीं। डायरेक्टर राही अनिल बारवे एवं आदेश प्रसाद की तंबाद एवं ताशकंद फाइल्स दिखाई गई। फिल्म हरजीता के साथ फिल्म फेस्टिवल संपन्न हुआ।

तीन दिनों के दौरान फिल्म जगत की विख्यात हस्तियां भी दर्शकों के रूबरू हुईं। डॉक्टर सतीश वर्मा पहले दिन और एक्टर एवं सुपरमॉडल इंद्र बाजवा शनिवार को दर्शकों के रूबरू हुए। शनिवार को ही फिल्म रिहा की स्टारकास्ट पुनीत चन्ना एवं प्रियंका भोले भी दर्शकों से मिली। रविवार को सनी देओल करण देओल एवं सहर ने दर्शकों के रूबरू होकर उनकी वर्षों की तमन्ना को पूरा किया। 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!