जालंधर, जेएनएन। फगवाड़ा के कोटरानी में पड़ते दशमेशपुरी इलाके में रहने वाले लोग आज भी 29 नवंबर 2013 का दिन याद कर सिहर उठते हैं। सात साल पहले इसी दिन बलजिंदर सिंह नाम के शख्स ने अपने साथियों के साथ मिलकर धारदार हथियारों से अपनी पत्नी, दो बच्चों और साली की बेरहमी से हत्या कर दी थी। उसने अपने साले और साली के लड़के को भी गंभीर रूप से घायल कर दिया। अब इस मामले में शनिवार को कपूरथला अदालत ने बलजिंदर को फांसी की सजा सुनाई है।

इस वारदात में सीमा (26) पत्नी बलजिंदर सिंह वासी गांव गूड़े गोराया, रीना रानी (28) पत्नी सुनैरी लाल वासी गांव अत्तोवाल होशियारपुर हाल वासी दशमेशपुरी कोटरानी फगवाड़ा एवं मृतका सीमा के दो बच्चों सुमनी (3) पुत्री बलजिंदर सिंह एवं हर्ष (2) पुत्र बलजिंदर सिंह वासी गांव गूड़े गोराया की मौत हो गई थी। जबकि तारी (17) पुत्र दौलत राम वासी दशमेशपुरी कोटरानी और हैरी (6) पुत्र सनैरी लाल गंभीर रूप से घायल हो गए थे।  

पारिवारिक कलह के चलते दिया वारदात को अंजाम

गूड़े गोराया के रहने वाले बलजिंदर की शादी साल सीमा के साथ हुई थी। उनके दो बच्चे सुमनी और हर्ष थे। सीमा 15-20 दिन पहले घरेलू लड़ाई झगड़े के चलते अपने पति से नाराज होकर अपने मायके दशमेशपुरी कोटरानी में आई हुई थी। इसी से गुस्साए बलजिंदर अपने साथियों के साथ तड़के साढे पांच बजे से छह बजे के बीच अपने ससुराल घर में दाखिल हुआ और जो भी सामने आया उस पर धारदार हथियारों से वार करता गया। उस समय घर में मौजूद सभी सदस्य गहरी नींद में सो रहे थे।

हत्याकांड से पहले दे चुका था धमकियां, मांगे थे पैसे

घटना की सूचना मिलते ही कोटरानी, दशमेशपुरी और आसपास के मोहल्ले के लोग भी मौके पर एकत्रित हो गए और चारों तरफ चीखो पुकार मच गई। मृतका सीमा के भाई विजय कुमार की तरफ से पुलिस को दिए गए बयानों के मुताबिक 14 नवंबर 2013 को बलजिंदर कुमार उर्फ काला उनके घर पर आया था और उन्हें धमकियां देकर गया था कि वह अपने बच्चे और पत्नी को जान से मार देगा, नहीं तो उसको 35 हजार रूपए का प्रबंध करके दिया जाए। विजय ने आरोप लगाया कि उन्होंने इस घटना के दौरान बलजिंदर कुमार उर्फ काला और उसके साथियों को जोकि तेजधार हथियारों से लैस थे, उन्हें घर से निकलकर भागते देखा। इसी को आधार बना थाना सतनामपुरा पुलिस ने विजय के बयानों पर आरोपी बलजिंदर सिंह उर्फ काला और उसके अन्य अज्ञात साथियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया था।

फिल्मी तरीके से हुई गिरफ्तारी

परिवार के चार लोगों की हत्या कर भाग रहे बलजिंदर की गिरफ्तारी अजीबो-गरीब तरीके हुई। जल्द भागने के चक्कर में फगवाड़ा-गोराया मार्ग पर गांव चचराड़ी के पास किसी अज्ञात वाहन की चपेट में आने से वह घायल हो गया। बेहोशी की हालत में उसे रास्ते से गुजर रहे व्यक्ति नेे ऑटो से सिविल अस्पताल में पहुंचाया। अज्ञात रजिस्ट्रेशन से उपचाराधीन के होश आने पर पूछा गया तो उसने खुद की पहचान बलजिंदर कुमार उर्फ काला के रूप में करवाई। अस्पताल प्रशासन इसकी सूूूूचना पुलिस को दी। पुलिस ने उसे तुरंत हिरासत में लेकर पूछताछ की, जहां उसने हत्या की बात कबूल कर ली।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Vikas Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!