जालंधर, जेएनएन। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक लोग शुक्रवार को पूरा दिन बारिश का इंतजार करते रहे लेकिन बादल रात को पौने एक बजे बरसे। रात 12.45 पर मौसम ने करवट बदली और तेज हवाएं चलने लगी। बिजली भी चमकी। उसके कुछ देर बार बारिश शुरू हुई। करीब आधे घंटे तक हुई बारिश से अधिकतम तापमान 29 डिग्री पर आ गया। रातभर मौसम सुहावना बना रहा।

इससे पहले दिन में अधिकतम तापमान 39 डिग्री रहने के कारण गर्मी व उमस ने लोगों को परेशान किया। बाजारों में भी लोग कम ही निकले। न्यूनतम तापमान 27 डिग्री रिकार्ड किया गया। मौसम विभाग की मानें तो आने वाले तीन दिन तक मौसम सुहावना बना रहेगा। इससे पहले वीरवार को भी मौसम ने देर शाम को करवट बदली थी। रात सात बजे बाद आधे घंटे तक झमाझम बारिश हुई।

बता दें कि वीरवार रात को आई आंधी व बारिश ने लोगों और पावरकाम की खूब मुश्किलें बढ़ाई। आधे शहर में ब्लैक आउट के बाद कुछ इलाकों में शुक्रवार सुबह 11 बजे तक बिजली सुचारू हो पाई। लोग पावरकाम कार्यालयों में शिकायतें नोट करवाते रहे और पावरकाम के अधिकारी लाइनमैन कम होने व थोड़ा समय लगने का तर्क देते रहे। हाल ये रहा कि पावरकाम की चारों डिवीजन नोडल कंप्लेंट सेंटर, मकसूदां, माडल टाउन व कैंट शिकायत केन्द्र में वीरवार देर शाम सात से सुबह 9 बजे तक रिकार्ड 3500 शिकायतें पहुंची। आंधी के कारण कई जगह पोल टूट कर गिर गए। कई जगह पेड़ बिजली की तारों पर गिरने से कई घंटे बिजली बाधित रही। सुबह तक तीन हजार शिकायतों का निपटारा ही किया जा सका, उसी कारण कुछ इलाकों में 12 घंटे बाद भी लाइट नहीं आई। इस पर पावरकाम के डिप्टी चीफ इंजीनियर हरजिंदर सिंह बांसल ने कहा कि कई बार फाल्ट नहीं मिलने की वजह से बिजली की सप्लाई सुचारू करना मुश्किल हो जाता है। विभाग के पास जेई, लाइनमैन व असिस्टेंट लाइनमैन की कमी है, जिसकी वजह से शिकायतों का हल करने में देरी हो रही है। पावरकाम के हेड आफिस पटियाला में लाइनमैन व असिस्टेंट लाइनमैन की कमी के बारे में बता चुके है।

Edited By: Vikas_Kumar