जागरण संवाददाता, जालंधर। मंगलवार को शहर में दिनभर हुई बारिश के बाद बुधवार सुबह की शुरूआत भी झमाझम बारिश के साथ हुई है। सुबह सात बजे के करीब शुरू हुई हल्की बारिश कुछ देर में तेज हो गई। जिले में लगतार दूसरे दिन हुई तेज बारिश से लोगों को गर्मी से तो राहत मिली है। हालांकि कई इलाकों व मुख्य सड़कों पर बारिश का पानी जमा होने से लोगों का घर से बाहर निकलना मुश्किल हो गया है। मौसम विभाग ने आज बारिश होने की आशंका जताई थी। विभाग का कहना है कि वीरवार से तापमान में इजाफा होना शुरू हो जाएगा और सप्ताह के अंत से गर्मी पसीने छूटने लगेंगे।

बारिश से किसानों के चेहरों पर रौनक ला दी है। मंगलवार को 11 घंटे में 88 एमएम बारिश से गर्मी से राहत मिली वह किसानों से चेहरे भी खिल गए। कृषि विभाग के अधिकारी डा. नरेश कुमार गुलाटी ने बताया कि जिले में धान की बिजाई खत्म हो चुकी है और बासमती की बिजाई चल रही है। लगातार बारिश पड़ने से धान की फसल को काफी फायदा हुआ है। उन्होंने कहा कि धान का पौधे का झाड़ बन रहा है। यह बारिश मक्की के लिए भी फायदेमंद है।

बता दें कि मंगलवार को सुबह पांच बजे से शाम चार बजे तक रुक-रुक हुई 11 घंटे बारिश ने मौसम का मिजाज ही बदल दिया। 80 एमएम बारिश के साथ मंगलवार सीजन का सबसे ठंडा दिन रहा और अधिकतम तापमान गिरकर 26 डिग्री तक पहुंच गया। बारिश के कारण दिनभर सूर्य देवता ने दर्शन नहीं दिए जिस कारण अधिकतम व न्यूनतम तापमान में महज दो डिग्री का अंतर रह गया। एयर क्वालिटी इंडेक्स भी सुधरा। पीएम-10 भी महज 37 रह गया। पीएम-2.5 भी पचास से नीचे 42 रहा। एक दिन पहले यह इंडेक्स सौसे अधिक थे। बारिश में लोग भीगते हुए भी नजर आए। शाम तक बाजारों में सन्नाटा पसरा रहा।

Edited By: Vikas_Kumar