जालंधर, [सुक्रांत/अखंड]। देहात पुलिस तस्करी रोकने के लिए अब अपने सारे नाकों को हाईटेक करने जा रही है। पंजाब पुलिस के सुपर कॉप माने जाते आइपीएस नवीन सिंगला देहात पुलिस को नया रूप देने के लिए प्रयास कर रहे हैं। इसी प्रयास में देहात के अंतर्गत आते सारे नाकों को हाईटेक करने के लिए सीसीटीवी कैमरे लगाने की योजना तैयार की गई है। इसे अमल में लाने के लिए प्रयोग के तौर पर एक दो नाकों पर कैमरा लगा कर ट्रायल भी किया गया है।

सफल ट्रायल को लेकर उत्साहित एसएसपी सिंगला ने बताया कि जालंधर ग्रामीण पुलिस अब अपने नाकों को हाईटेक बनाएगी, जिसके चलते सबसे पहले हर नाके पर सीसीटीवी कैमरा लगाने के लिए योजना पर काम हो रहा है। विभाग के आला अधिकारियों को इससे अवगत करवा दिया गया है। जल्द ही इस पर काम शुरु हो जाएगा। उन्होंने बताया कि जब सारे सीसीटीवी कैमरे लगा दिए जाएंगे तो उनका कंट्रोल रूप में जालंधर का एसएसपी कार्यालय होगा। इसके अलावा नाकों पर मौजूद पुलिस कर्मियों को विशेष ट्रेनिंग दी जाएगी। नाकेबंदी के दौरान होने वाले हमलों से बचाव के गुर सिखाए जाएंगे।

उन्होंने बताया कि देहात में करीब 100 नाके लगते हैं, जिनमें से 25 से 30 बड़े नाके हैं, जहां पर अपराधियों को रोकने के लिए विशेष पुलिस बल तैनात किया जाता है। कई बार अपराधी पुलिस को चकमा देकर या पुलिस पर हमला कर निकलने का प्रयास करते हैं और इसी को रोकने के लिए नाकों को हाईटेक किया जा रहा है। एसएसपी दफ्तर में कंट्रोल रूम बनने के बाद नाकों पर नजर रखना भी आसान हो जाएगा। उन्होंने बताया कि इसके साथ ही पुलिस मुलाजिमों पर भी नजर रखी जाएगी कि सारे अपनी ड्यूटी कैसे कर रहे हैं। वाहनों की चेकिंग ढंग से हो रही है या नहीं, ताकि किसी किस्म की कोई लापरवाही न हो सके।

नए बैरियर भी मिलेंगे नाकों पर

सीसीटीवी कैमरे के साथ-साथ सारे नाकों पर नए बैरियर भी दिए जाएंगे। अभी तक देहात पुलिस के पास जितने भी बैरियर हैं, वो सारे पुराने हो चुके हैं। इसके चलते अब नए बैरियर मंगवाए जाएंगे। विशेष तौर पर जहां पर बड़े नाके लगेंगे, वहां पर सारे बैरियर भी नए उपलब्ध करवाने का प्रयास किया जाएगा।

नाकों की बदलेगी तकनीक, बड़े नाके के आगे लगेगा छोटा नाका

एसएसपी नवीन सिंगला ने बताया कि नाकों को हाईटेक करने के साथ-साथ तकनीक भी बदली जा रही है। उन्होंने बताया कि अब हर बड़े नाके के आगे थोड़ी दूरी पर छोटा नाका लगाया जाएगा। यदि कोई संदिग्ध पुलिस नाके से बच कर भी निकलता है तो उसे अगले नाके पर घेरा जा सकेगा। यह नाका कहां पर लगेगा, कितनी दूरी पर लगेगा और कैसे लगेगा, यह सब मौके पर ही तैयार किया जाएगा।

नाकों का होगा औचक निरीक्षण

नाकों की एसएसपी सिंगला औचक निरीक्षण करेंगे। सिंगला ने बताया कि बतौर डीसीपी कमिश्नरेट में नाकों पर अचानक पहुंचने का जो काम शुरू किया था, उससे काफी सफलता मिली थी। अब देहात में भी यही किया जाएगा।

Edited By: Vikas_Kumar