जालंधर, जेएनएन। गोधन को राष्ट्र माता घोषित करने व गोहत्या पर मृत्युदंड देने का प्रावधान तय करने की मांग तेज हो गई है। इस संबंध में बैठक का आयोजन नारायणी सेना के प्रमुख आचार्य रामानुज की अध्यक्षता में हुआ। इसमें जिले भर से संत समाज के सदस्य शामिल हुए। इस दौरान रामानुज ने कहा कि देश भर में उक्त मांग को लेकर व्यापक स्तर पर प्रयास किए जा रहे हैं लेकिन इसे लेकर सरकार गंभीर नहीं है।

उन्होंने कहा कि सनातन धर्म में गाय को माता के समान सम्मान दिया गया है। इसका जिक्र विभिन्न धार्मिक ग्रंथों में किया गया है। बावजूद इसके देश में गोहत्या जैसे अपराध कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि गाय के दूध से लेकर गोमूत्र तक इंसानी जीवन के लिए औषधि से कम नहीं है। इसे लेकर गंभीरता की जरूरत है। इसी मांग को लेकर 19 से लेकर 21 अप्रैल तक नवचंडी महानारायण यज्ञ का आयोजन माता चंद्रावली समीप दुर्गा मणि में मथुरा में होगा। इसमें सरकार से इन मांगों को पूरा करने की मांग भी की जाएगी। इसके बाद 14 मई को गोमुख से अनुयायियों के साथ पद यात्रा निकालने का निर्णय लिया गया है। यह नगर ग्राम में जागृति करते हुए हरिद्वार व ऋषिकेश के रास्ते दिल्ली तक की सफर तय करेगी, जहां पर केंद्र सरकार को ज्ञापन सौंपा जाएगा।  इस मौके पर सुरेश पहलवान, गौतम कुमार, धर्मवीर सिंह, संजय सिंघल व हीरा लाल मौजूद थे।