जालंधर, जेएनएन। यह लाश बदनसीबी कि नहीं सिस्टम और संवेदनाओं की है... 500 से ज्यादा अस्पताल और 100 से ज्यादा एंबुलेंस वाले जालंधर जिले में कोरोना काल के दौरान प्रशासनिक व्यवस्थाओं की पोल खोलने वाले एक दर्दनाक वीडियो ने लोगों को झकझोर कर रख दिया।

शुक्रवार शाम वायरल हुई इस वीडियो में जालंधर के रामनगर में एक गरीब और लाचार बुजुर्ग अपने कंधों पर दोपहर को एक शव लेकर जाता दिखा। बुजुर्ग के साथ एक बच्चा भी था जो बार-बार नीचे गिर रहे लाश के ऊपर रखे कपड़े को उठाकर रख रहा था। 34 सेकेंड की इस हृदयविदारक वीडियो ने सिस्टम और संवेदनाओं पर करारी चोट की। लाश ले जाते बुजुर्ग के आसपास से लोग गुजरते रहे लेकिन किसी ने उनको सहारा देने की कोशिश नहीं की। बुुजुर्ग राम नगर के रेलवे फाटक की तरफ से आता दिखाई दिया और गाजीगुल्ला की तरफ जा रहा है। इस दौरान एक दरगाह के आगे से भी गुजरता है...पर पूरे रास्ते में उसे कोई 'अपना' नहीं मिला।

बुजुर्ग के कंधों पर झुकी हुई इस लाश ने सभी को सोचने पर मजबूर कर दिया कि क्या हम उस शहर में रह रहे हैं जिसे सबसे ज्यादा अस्पतालों वाले शहर के रूप में पहचान मिली है।

प्रशासन रोजाना लाइव होकर मरीजों के लिए तमाम सुविधाएं उपलब्ध होने का दावा करता है। दोपहर को जब रामनगर रोड पर यह व्यक्ति मजबूरी में एंबुलेंस या आटो अथवा रिक्शा वाले को भी लाश ले जाने का भाड़ा ना दे पाने की मजबूरी में खुद ही लाश को कंधे पर रखकर रवाना हुआ तो तमाम लोगों ने इस घटना को देखकर सरकार को कटघरे में खड़ा किया।

वायरल वीडियो ने खड़े कर दिए तमाम सवाल

अभी यह स्पष्ट नहीं हो सका है की मौत का कारण कोरोना रहा या कोई दूसरी बीमारी थी लेकिन सबसे ज्यादा अस्पतालों वाले शहर में यह पहला मौका था जब लोगों ने किसी को लाचारी में इस प्रकार कंधे पर अपने अजीज की लाश को संवेदनाओं के साथ ढोते हुए देखा हो। जिस शहर में सैकड़ों की संख्या में एनजीओ और सामाजिक संस्थाएं जो हमेशा लोगों की मदद के लिए आगे आने के लिए तैयार रहती हैं, वहां इंटरनेट मीडिया पर वायरल हुए इस वीडियो ने तमाम सवाल खड़े कर दिए हैं।

अस्पताल में ही है हुई मौत...

डेडबाडी को पूरी तरह से पैक किया गया है। माना जा रहा है कि मौत किसी अस्पताल में ही हुई होगी। लाश को कफन में इस तरीके से पैक अस्पतालों की तरफ से ही किया जाता है।

 

 

 

 

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें