जालंधर, जेएनएन। 6.29 लाख कोविड-19 डोज देकर जालंधर इतनी बड़ी संख्या में टीकाकरण करने वाले राज्य के अग्रणी जिलों में से एक बन गया है। यह जानकारी खुद डीसी घनश्याम थोरी ने टीकाकरण अभियान का मूल्यांकन करने के लिए मुख्य सचिव विनी महाजन की अध्यक्षता में शनिवार को हुई वर्चुअल समीक्षा बैठक में हिस्सा लेते हुए दी। 

 

5,37,202 ने पहली और 91,970 ने दूसरी खुराक हासिल की 

डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि अब तक लाभ पात्रियों को को-वैक्सीन और कोविशील्ड दोनों की 5,37,202 पहली ख़ुराक दी जा चुकी है, जबकि 91,970 ने अपनी दूसरी ख़ुराक प्राप्त कर ली है। उन्होनें लोगों से अपील की कि जिनकी दूसरी ख़ुराक रहती है, वह अपनी दूसरी ख़ुराक के लिए नज़दीकी टीकाकरण केंद्र में पहुंचे ताकि उनका टीकाकरण निर्धारित समय में पूरा किया जा सके।

डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि जिले में कोविड -19 वैक्सीन का जल्दी ही नया स्टाक आएगा। इसके आने पर जिले भर में कुल 50 मोबाइल टीकाकरण कैंप लगाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि प्रशासन एनजीओ, रेजीडेंट वेलफेयर सोसाइटी और जन-प्रतिनिधियों को शामिल कर टीकाकरण अभियान को और तेज करेगा और अधिक से अधिक टीकाकरण सुनिश्चित किया जाएगा।

18 -24 आयु वर्ग में दिहाड़ीदारों को प्राथमकिता

डीसी थोरी ने कि राज्य सरकार के आदेशानुसार 18 -24 आयु वर्ग के टीकाकरण में प्राथमिकता संभावित सुपर स्प्रैडर और दिहाड़ीदारों को दी जाएगी ताकि वायरस फैलने का जोखिम जल्द कम किया जा सके। सुपर स्प्रैडर श्रेणी में वह लोग शामिल है, जो जरूरी और गैर-जरूरी सेवाओं पर काम कर रहे हैं और जिनके संपर्क में हर रोज़ बड़ी संख्या में लोग आते हैं। उन्होंने कहा कोरोना वायरस संक्रमण की तीसरी लहर में लोगों की सुरक्षा यकीनी बनाएगा। इस अवसर पर सिविल सर्जन डॉ. बलविंदर सिंह, एसीएस डॉ. वरिंदर कौर, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. राकेश चोपड़ा और अन्य मौजूद थे।

 

Edited By: Pankaj Dwivedi