जागरण संवाददाता, जालंधर। कोरोना महामारी के कारण लगातार दूसरे वर्ष भी अधिकतर धार्मिक संस्थाएं दशहरा नहीं मना रही हैं। कुछ ही संस्थाओं ने सीमित दायरे में दशहरा मनाने का फैसला किया है। इस बीच आदर्श नगर में उपकार दशहरा कमेटी की तरफ से होने वाले दूसरे उत्सव में शहर के सबसे ऊंचे 80 फीट के पुतले दहन किए जाएंगे। इसे लेकर एक दिन पहले व्यापक स्तर पर तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। इसके साथ ही करोना को लेकर सरकारी गाइडलाइंस की पालना के लिए बेहतर इंतजाम किए जाने का दावा किया जा रहा है।

दरअसल, कोरोना महामारी के चलते बीते वर्ष शहर की किसी भी दशहरा उत्सव कमेटी को जिला प्रशासन ने अनुमति नहीं दी थी। शहर में कहीं पर भी व्यापक स्तर पर दशहरा नहीं मनाया गया था। इस बार भी जिला प्रशासन किसी तरह का जोखिम लेने के मूड में नहीं है। संस्थाओं को दशहरा मनाने की इजाजत देने के दौरान कई जटिल औपचारिकताएं पूरी करना निर्धारित की गई है। इसमें अधिकतम 500 लोगों की भीड़ तथा शारीरिक दूरी, चेहरे पर मास्क सहित नियम भी निर्धारित किए हैं। यही कारण है कि अधिकतर संस्थाओं ने दशहरा मनाने से तौबा कर ली है।

उधर कई संस्थाओं ने शहर में नियमों की पालना करते हुए दशहरा मनाने का फैसला भी लिया है। इसमें उपकार दशहरा कमेटी आदर्श नगर की तरफ से आदर्श नगर पार्क में व्यापक स्तर पर दशहरा मनाया जाएगा। इसके लिए बकायदा सबसे उंचे 80 फीट के रावण कुंभकरण तथा मेघनाथ के पुतले सजाए जा चुके हैं। पार्क में आतिशबाजी का नजारा पेश करने के लिए भी व्यापक तैयारियां की गई हैं।

पूजा ग्राउंड, लडोवाली रोड में लगे 60 फीट के पुतले

इसी तरह पूजा ग्राउंड लाडोवली रोड में मनाए जा रहे दशहरे में 60 फीट के पुतले सजाए गए हैं। इस बारे में जानकारी देते हुए दशहरा के प्रबंधक तथा विधायक राजिंदर बेरी ने कहा कि दशहरे को लेकर व्यापक स्तर पर तैयारियां की गई हैं। इसमें ट्रैफिक सुरक्षा तथा तमाम तरह के इंतजाम किए गए हैं।

यह भी पढे़ं - Punjab BSF Controversy: परगट ने कहा- राष्ट्रपति शासन की तैयारी, कैप्टन की पहले से थी भाजपा से सांठगांठ

Edited By: Pankaj Dwivedi