जालंधर, जेएनएन। आरटी पीसीआर टेस्ट के नाम पर अधिक शुल्क वसूलने के मामले में जालंधर के एक और डायग्नोस्टिक सेंटर पर पुलिस ने केस दर्ज किया है। डायग्नोस्टिक सेंटर पर आरोप है कि उन्होंने आरटी पीसीआर के लिए सरकार द्वारा निर्धारित ₹450 की जगह 1500 रुपए वसूले थे। जिसके बाद पुलिस ने दोआबा चौक स्थित कमल हॉस्पिटल के गुप्ता डायग्नोस्टिक सेंटर पर जिला मजिस्ट्रेट के आदेशों के उल्लंघन के साथ-साथ अन्य संबंधित धाराओं में केस दर्ज कर लिया है।

अवनीत कौर और परीना खन्ना ने शिकायत दी थी कि गुप्ता डायग्नोस्टिक सेंटर ने कोविड-19 टेस्ट के निर्धारित शुल्क से अधिक पैसे वसूले हैं। जिसके सारे सबूत शिकायत कर्ताओं ने जिला प्रशासन को सौंपे थे। मामले में डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी पुलिस को पत्र लिखते हुए डायग्नोस्टिक सेंटर के खिलाफ केस दर्ज करने की सिफारिश की थी। इसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए कमल हॉस्पिटल के गुप्ता डायग्नोस्टिक सेंटर पर केस दर्ज कर लिया है। इसके साथ ही जिला प्रशासन ने चार और अलग-अलग लोगों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। इसमें दोआबा चौक स्थित डॉ लाल पैथ लैब, आशा पैथ लैब, मेट्रोपोलिस लैब और रामा मंडी स्थित जोहल हॉस्पिटल शामिल है। डिप्टी कमिश्नर का कहना है कि इससे संबंधित ऑडियो और वीडियो साक्ष्यों के पास मौजूद हैं, जिसे लेकर जिला प्रशासन की जांच लगातार जारी है।

ओवरचार्जिंग को लेकर इन नंबरों पर करें शिकायत

डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी ने कहा कि अगर कोई भी अस्पताल या पैथोलॉजी लैब उनसे कोरोना टेस्ट के नाम पर सरकार द्वारा निर्धारित शुल्क से अधिक पैसों की मांग करता है तो सबूत के साथ 9888981881, 9501799068 नंबर पर व्हाट्सएप के जरिए भेजा जा सकता है

Edited By: Vikas_Kumar