जागरण संवाददाता, जालंधर। सोढल इलाके में व्यापारी सचिन जैन की लुटेरों की गोली लगने से मौत के मामले में व्यापारियों के आक्रोश को देखते हुए डीसी घनश्याम थोरी ने इलाज न देने वाले अस्पतालों की जांच के आदेश दे दिए हैं। डीसी ने अस्पतालों की कारगुजारी की जांच को लेकर कमेटी का गठन कर दिया है। असिस्टेंट कमिश्नर ग्रीवेंस रणदीप सिंह गिल, डॉ. ज्योति शर्मा और डॉ. वरिंदर थिंद पर आधारित यह कमेटी इन अस्पतालों की कारगुजारी की जांच करेगी।

इससे पहले, मामले को लेकर शहर के विभिन्न संगठनों के साथ-साथ जैन समाज ने भी डीसी घनश्याम थोरी को मांगपत्र देकर पूरे मामले की गंभीरता से जांच करवाने की मांग की थी। इसके साथ ही उन्होंने पूरे घटनाक्रम के लिए जिम्मेदार दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग भी रखी।

गत सोमवार रात सचिन दुकान के बाहर खड़े थे कि वहां पहुंचे लुटेरों ने पैसे न देने पर उन्हें गोली मार दी थी। गोली लगने के बाद उन्हें शहर के चार अस्पतालों में लेकर जाया गया, लेकिन सभी ने उपचार से इनकार कर दिया। सत्यम अस्पताल, जोशी अस्पताल, टैगोर अस्पताल, सिविल अस्पताल तथा अरमान अस्पताल में सचिन जैन को घायल अवस्था में लेकर गए थे।लेकिन उसका इलाज नहीं किया गया जिसके परिणाम स्वरूप पटेल अस्पताल में उसने दम तोड़ दिया।

 

Edited By: Pankaj Dwivedi