जालंधर, जेएनएन। जालंधर में कोरोना के मरीजों की संख्या कम होने से लोग राहत महसूस करने लगे है। शनिवार को 91 कोरोना पाजिटिव लोग मिले है और 2 मरीजों की मौत हो गई है। मरने वालों में 60 व 64 साल के बुजुर्ग शामिल है। बता दें कि शुक्रवार को जिले में सुरक्षा बलों के तीन जवानों सहित 101 लोग कोरोना पाजिटिव पाए गए। 50-83 साल आयु वर्ग के चार शहरी तथा एक देहात इलाके के मरीज की मौत हो गई। कोरोना के जिले के हाई रिस्क इलाकों में भी कोरोना शांत होने लगा है। हाट स्पाट बना बस्तीयात इलाके में मरीजों की ग्राफ तेजी से गिरा है। वहीं पाश कालोनियों में लोग कोरोना कम होने से राहत महसूस करने लगे है।

नतीजतन जिले में सभी हाई रिस्क इलाकों में में बने माइक्रोकंटेनमेंट व कंटेनमेंट जोन खत्म हो चुके है। पिछले माह बड़ा पिंड के गांव पत्ती कमाल पुर में तीन दर्जन के करीब कोरोना के मरीज सामने आने से उसे कंटेनमेंटजोन बना दिया गया था। इसके अलावा बस्तीयात इलाके में मरीजों की संख्या 100-150 तक पहुंच गई थी। वहीं माडल टाउन, न्यू जवाहर नगर , जीटीबी नगर, अर्बन अस्टेट सहित पाश कालोनियों में मरीजों की संख्या काफी बढ़ गई थी। प्रत्येक कालोनी व इसके आसपास इलाके में मरीजों का आंकड़ा 20-25 तक पहुंच गया था।

मई माह के अंत तक माइक्रो कंटेनमेंट जोन में गली नंबर 2 गुरु रविदास नगर मकसूदां, मकान नंबर 2बी -बी 75 लिंक कालोनी, मकान नंबर 108-117 नजदीक स्वर्ण पार्क, गदईपुर, मकान नंबर 16-40 मधुवन कालोनी, बस्ती बावा खेल,मकान नंबर 13-45 नजदीक दुर्गा मंदिर दियोल नगर,जीवन सिंह डेरे, नजदीक जंगीपीर पतो कला शाहकोट, मकान नंबर 17 डी से 20 डी पंजाब एवीन्यू,मकान नंबर 254 -275 नंगल करार खां,जागो संघा फिल्लोर शामिल थे, जबकि मनजीत नगर बस्ती शेख व पत्ती कमाल पुर, बड़ा पिंड कंटेनमेंट जोन में था। जून माह की शुरूआत होते ही मरीजों की संख्या कम होती गई और सभी इलाके कोरोना मुक्त हो गए।

Edited By: Vinay Kumar