जगजीत सिंह सुशांत, जालंधर

विधानसभा चुनाव से पहले नगर निगम शहर में चल रहे विकास कार्यो को लेकर शहर के लोगों को फील गुड करवाएगा। इसके लिए जनता के पैसे खर्च कर फिल्म बनाई जाएगी जिसमें हीरो भी शहर के विधायक व पार्षद होंगे। इस फिल्म को बकायदा लोगों को दिखाया जाएगा और उसी आधार पर वोट मांगे जाएंगे। शहर में चल रहे विकास कार्यो की वीडियोग्राफी के अलावा ड्रोन से फोटो भी करवाए जाएंगे ताकि फिल्म दिखाने से पहले लोगों में उनकी उत्सुकता पैदा की जा सके।

ऐसा इसलिए करना पड़ रहा है क्योंकि शहर में कई बड़े प्रोजेक्ट्स चल रहे हैं। सड़क, सीवरेज, पानी, एलईडी से जुड़े करोड़ों रुपये के काम चल रहे हैं लेकिन इसके बावजूद विकास कार्याें को लेकर लोगों में नेगटिविटी बनी हुई है। नेगेटिविटी दूर करने और लोगों को फील गुड करवाने के लिए ही निगम ने फिल्म बनवाने का फैसला किया गया है। इसके लिए बकायदा एक्सप‌र्ट्स से प्रपोजल मांगी गई हैं। चुनाव से पहले इसके लिए बजट भी मंजूर होगा। ..इसलिए लिया फैसला

मेयर और विधायक इस बात से परेशान हैं कि शहर में कई बड़े प्रोजेक्ट्स पर काम चल रहा है। सरकार से करोड़ों की ग्रांट लेकर आएं हैं लेकिन जनता के बीच यह संदेश नहीं जा पा रहा कि शहर में विकास हो रहा है। पार्षद छह माह से बार-बार यह मांग उठा रहे थे कि निगम के जरिए हो रहे विकास कार्यो का वीडियो मैसेज बनाकर लोगों में प्रचारित किया जाए। उनकी मांग पर अब इस सहमति बनी है।

जनप्रतिनिधि नहीं निभा पाए अपना रोल

निगम के इस कदम से साफ है कि पार्षद अपना काम नहीं कर पाए। पार्षदों का जनता से संवाद कम हुआ है। सत्तारुढ़ कांग्रेस के 65 पार्षद हैं। यह शहर के 80 प्रतिशत इलाकों का प्रतिनिधित्व करते हैं। निगम के इस कार्यकाल में ज्यादातर पार्षद नए हैं। चुनाव तो जीत गए हैं लेकिन लोगों का दिल जीतने में मुश्किल हो रही है और यही कारण है जो काम हुए हैं उन्हें जनता को बताने के लिए नए तरीके ढूंढे जा रहे हैं। मेयर और विधायकों की भूमिका भी सवालों के घेरे में हैं। -----

हलका स्तर पर बन सकती हैं शार्ट फिल्में

विकास कार्याें को लेकर हलका स्तर पर फिल्में बनाई जा सकती है। सभी विधानसभा हलकों की अलग-अलग शार्ट फिल्में बनाने से लोगों से जुड़ने में आसानी रहेगी। पार्षद भी अपने हिसाब से वार्ड में प्रचारित कर सकेंगे। इस पर प्लानिग कर रहे निगम अफसर कहते हैं कि जो जिस इलाके को प्रोजेक्ट है वह उसी इलाके के लोगों को प्रभावित करेगा इसलिए अलग-अलग वीडियोग्राफी करवाएंगे। जो प्रोजेक्ट पूरे शहर के लिए हैं उसके लिए अलग फिल्म बनाएंगे।

----------- इन प्रोजेक्ट्स पर रहेगा फोकस

नगर निगम जिन बड़े प्रोजेक्ट्स को प्रचारित करने की प्लानिग कर रहा है उनमें करीब 800 करोड़ का सरफेस वाटर प्रोजेक्ट, 44 करोड़ का एलईडी लाइट्स, 20 करोड़ का 120 फिट रोड का बरसाती सीवर, 6 करोड़ का प्रीत गनर-सोढल बरसाती सीवर, चारा मंडी में सरकारी कालेज, बलर्टन पार्क में सरकारी स्कूल की स्मार्ट बिल्डिंग, लद्देवाली आरओबी, सूर्या एनक्लेव का अंडरपाथ, पटेल चौक से रेलवे स्टेशन तक कंकरीबट रोड, स्मार्ट सिटी के नहर ब्यूटीफिकेशन, ग्रीन बेल्ट, पार्क, एसटीपी और करीब 100 करोड़ से बनाई जा रहीं सड़कें, सीवरेज के काम शामिल हैं। पंजाब सरकार से मिला आइडिया

वीडियोग्राफी और शार्ट फिल्में बनाने का आईडिया पार्षदों को पंजाब सरकार की से ही मिला है। अक्टूबर 2020 में जब मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिदर सिंह ने शहर में कई बड़े विकास कार्यों का वर्चुअल उद्घाटन किया था तो तब शहर में जगह-जगह एलइडी स्क्रीन लाइट सरकार लगाकर लोगों को शहर से जुड़े विकास कार्यों की वीडियोग्राफी दिखाई गई थी। पार्षद तब से लोकल स्तर पर वीडियोग्राफी करवाई जाए।

Edited By: Jagran