जागरण संवाददाता जालंधर। Jalandhar Coronavirus Vaccination: बुधवार को दशहरे की वजह से सरकारी छुट्टी रहेगी। इसी के चलते स्वास्थ्य केंद्रों में वैक्सीन की डोज नहीं लगेगी। वहीं दूसरी तरफ कोरोना शांत हुआ तो जिले में डेंगू सक्रिय होने लग गया है।

जिले में डेंगू के मरीजों की संख्या 108 तक पहुंच गई है। इनमें 73 शहरी 35 देहात इलाके के शामिल हैं। सरकारी व गैर सरकारी अस्पतालों में दो-दो मरीज इलाज के लिए दाखिल हैं। जिले में सेहत विभाग की टीमें 41337 घरों में दस्तक देकर सर्वे कर चुकी है। इस दौरान 1569 घरों में डेंगू का लार्वा पाया गया।

डेंगू से बचाव के लिए फागिग का इंतजार कर रहे लोग

लोग डेंगू से बचाव के लिए फागिग का इंतजार कर रहे हैं। वहीं नगर निगम फागिग करवाने का दावा कर रहा है। सेहत विभाग केवल डेंगू से प्रभावित मरीजों और उनके आसपास के इलाके में सर्वे कर कीटनाशक दवा का छिड़काव करने की बात कर रहा है।

अस्पताल में कोरोना का कोई मरीज नहीं

बता दें कि सरकारी व गैर सरकारी अस्पतालों में कोरोना का कोई भी मरीज उपचाराधीन नहीं है। सक्रिय मरीजों की संख्या भी 9 रह गई है। 7 मरीज घरों में आईसोलेट है। जिले में कोरोना के कुल मामलों की संख्या 81069 हो चुकी है। इनमें से 1983 की मौत हो चुकी है। जिले में कुल डोज का आंकड़ा 40,40,724 पहुंच गया है। इनमें 1953317 पहली, 1883023 दूसरी और 204384 बूस्टर डोज वाले शामिल हैं।

सेंटरों में कम पहुंच रहे डोज लगवाने वाले लोग

जिला टीकाकरण अधिकारी डा. राकेश चोपड़ा ने बताया कि स्टोर और सेंटरों में दस हजार के करीब डोज पड़ी है। फेस्टिवल सीजन के चलते डोज लगवाने वाले लोग सेंटरों में कम पहुंच रहे हैं।

सिविल सर्जन डा. रमन शर्मा का कहना है कि विभाग की टीमें डेंगू प्रभवित इलाकों में निगम की टीमों के साथ जागरूकता मुहिम चला रही है। इसके साथ ही फागिग भी करवाई जा रही है।

यह भी पढ़ेंः- फेस्टिवल सीजन में महंगाई की मार, 30 प्रतिशत तक बढ़े खाद्य पदार्थों के दाम

यह भी पढ़ेंः- Jalandhar Today 5th October: शहर में कई जगह हाेगा रावण दहन, जानिए और क्या है खास

Edited By: Deepika

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट