जालंधर, जेएनएन। कोरोना को मात देने के लिए देश में तैयार वैक्सीन को लेकर अफवाहें उड़ने लगी हैं। नतीजतन लोग वैक्सीन को लेकर डरने लगे हैं। वहीं सेहत विभाग ने वैक्सीन को सुरक्षित बताया है और अफवाहों से बचने की सलाह दी है। विभाग ने अफवाहें फैलाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करवाने की भी बात कही है।

वैक्सीन आने से पहले ही इसे लगवाने तथा साइड इफेक्ट को लेकर लोग डरने लगे हैं। लोगों में वैक्सीन लगवाने के बाद कई तरह की समस्याएं होने की अफवाहें फैल रही हैं। सेहत विभाग के नोडल अफसर डा. राजेश भास्कर ने वैक्सीन को लेकर तमाम अफवाहों को बेबुनियाद बताया है। उन्होंने कहा कि वैक्सीन लगवाने वाले एक लाख में से एक व्यक्ति को हल्का बुखार हो सकता है। इसके अलावा मन मचलना तथा टीके लगने वाली जगह पर हल्का दर्द हो सकता है। केंद्र सरकार ने तमाम ट्रायल होने के बाद इसे हरी झंडी दी है। पहले चरण में राज्य के 1.57 लाख सेहत कर्मियों को कोरोना वैक्सीन लगाने का लक्ष्य है। लोहड़ी के बाद वैक्सीन आने की संभावना है।

-------------

यह भी पढ़ेंः कोरोना से हालात सामान्य होने की प्रार्थना कर विद्यार्थी परीक्षा में बैठे

जालंधर : संस्कृति केएमवी स्कूल टांडा रोड में शनिवार से दसवीं और 12वीं की आफलाइन परीक्षाएं शुरू हो गईं। विद्यार्थियों को मेडिकल स्क्रीनिंग व हाथों को सैनिटाइज करवाकर प्रवेश करवाया। परीक्षाएं सुखद तरीके से संपूर्ण हो और जल्द कोरोना से हालात सामान्य हों, इसके लिए विद्यार्थियों ने परीक्षा शुरू करने से पहले प्रार्थना भी की। विद्यार्थियों से लेकर स्टाफ के लिए मास्क लगाकर आना अनिवार्य किया गया। शिक्षकों की भी मेडिकल स्क्रीनिंग हुई और हर कोई एक-दूसरे के करीब आने से बचें, इसके लिए छह फीट की दूरी परीक्षा हाल में रखी गई थी। विद्यार्थियों को बकायदा अपने रोल नंबर की सीट दिखाई गई, ताकि वे किसी दूसरे विद्यार्थी की सीट को भी न हाथ लगाएं।

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021