जालंधर, जेएनएन। शहर में कोरोना मरीजों की संख्या फिर से बढ़ने लगी है। शनिवार को जालंधर में कोरोना वायपस के 126 मरीज सामने आए हैं और एक मौत हो गई। कई दिनों की राहत के बाद फिर से कोरोंना मरीजों की संख्या 100 की संख्या पार कर गई हैं। इसी के साथ जिले में मरीजों की कुल संख्या 15158 पहुंच गई हैं। वहीं मरने वालों की संख्या 468 तक पहुंच गई।

दूसरी ओर कोरोना के खिलाफ जंग जीतने वालों की रफ्तार तेजी पकडऩे लगी है। शुक्रवार तक 14 हजार संक्रमित मरीज कोरोना से जंग जीतकर सरकारी व गैर सरकारी अस्पतालों से छुट्टी लेकर अपने घरों को जा चुके हैं। सिविल सर्जन डा. गुरिंदर कौर चावला ने कहा कि सेहत विभाग की ओर से जिले में सैंपलों की तादाद बढ़ाने से पाजिटिव आए मरीजों का समय पर इलाज करने से कोरोना को हराने में काफी हद तक कामयाबी मिल रही है।

इससे पहले शुक्रवार को 65 नए कोरोना के मरीज सामने आए और किसी भी संक्रमित मरीज की मौत नहीं हुई। सेहत विभाग के अनुसार शुक्रवार को सरकारी मिडल स्कूल बुधियाना, सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूल दौलीके तथा सरकारी प्राइमरी स्कूल कादियावाली के स्टाफ का एक-एक सदस्य पाजिटिव पाया गया।

सरकारी स्कूलों में कोरोना की दस्तक के बाद शिक्षकों में अफरातफरी का माहौल है। सरकारी स्कूलों में जाने वाले विद्यार्थियों पर भी खतरे के बादल मंडराने लगे हैं। मरीजों की सूची में निजी बैंक का एक मुलाजिम, न्यू जवाहर नगर व करतारपुर के चार-चार, जालंधर हाइट्स तथा मोती नगर से तीन-तीन, न्यू मोती नगर से दो, जालंधर छावनी, मोता सिंह नगर तथा जीटीबी नगर से एक-एक मरीज शामिल हैं। सेहत विभाग के नोडल अफसर डा. टीपी सिंह ने बताया कि 43 मरीजों को सरकारी व गैर सरकारी अस्पतालों से छुट्टी देकर घर भेजा गया।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021