जासं, जालंधर। जीएसटी विभाग की ओर से चार्टड अकाउंटेंट को गिरफ्तार व रिफंड लेने वाले पर कोई कार्रवाई न होने को लेकर सोमवार जालंधर सीए एसोसिएशन के सदस्यों ने एकत्र होकर सेंट्रल जीएसटी कमिश्नर को ज्ञापन सौंपा। एसोसिएशन के चेयरमैन शशि भूषण ने कहा कि गुरुग्राम में एक करदाता ने 15 करोड़ का रिफंड लिया था, जिसे बोगस रिफंड बताया गया। इस मामले में विभाग ने जीएसटी करदाता के चार्टर्ड अकाउंटेंट्स को गिरफ्तार कर लिया गया जबकि रिफंड लेने वाले को नहीं पकड़ा। इस गिरफ्तारी से पूरे देश के चार्टर्ड अकाउंटेंट्स में रोष है।

उन्होंने कहा कि इस केस में विभाग ने रिफंड लेने वाले और रिफंड जारी करने वाले पर कोई काईवाई नहीं की। गिरफ्तारी से पूर्व सभी नियमों का पालन नहीं किया गया। सीए पूरे दस्तावेज के आधार पर सर्टिफिकेट जारी करते हैं और यदि इस काम के लिए उन पर गिरफ्तारी की तलवार लटकेगी तो वे अपना काम कैसे करेंगे। यदि किसी की गबन या भ्रष्टाचार में मिलीभगत है तो उन पर कार्रवाई होनी चाहिए लेकिन मात्र सर्टिफिकेट जारी करने के लिए किसी सीए पर आरोप लगाना उचित नहीं है।

वाइस चेयरमैन सीए अभिषेक बंसल, सेक्रेटरी सीए सुमित वत्ता, कोषाध्यक्ष सीए रितु शर्मा, सीए इंदरजीत अभिलाषी, सीए ऋषभ अग्रवाल, सीए परमजोत सिंह ने कहा कि हमारी मांग है कि सरकार को इस मामले में सीबीआई जांच करवानी चाहिए और असली गुनहगारों को पकड़ना चाहिए । इस के साथ साथ भविष्य में किसी भी गिरफ्तारी से पूर्व सभी नियमों का पालन होना चाहिए।

इस अवसर पर चेयरमैन सीए शशि भूषण, वाइस चेयरमैन सीए अभिषेक बंसल, सेक्रेटरी सीए सुमित वत्ता, कोषाध्यक्ष सीए रितु शर्मा, एक्जीक्यूटिव सदस्य सीए इंदरजीत अभिलाषी, सीए ऋषभ अग्रवाल, सीए परमजोत सिंह, सीए अश्वनी जिंदल, सीए मनमोहन पुरी, सीए मुनीश कपूर, सीए राजीव बंसल, सीए साहिल रस्तोगी, सीए सावन सेठी, सीए आशुतोष पाहवा, सीए आर एस कालरा, सीए गौरव छाबड़ा, सीए नितिन अरोड़ा, सीए गौरव दुग्गल, सीए सलिल गुप्ता, सीए इंदरजीत सिंह, सीए मनोज चड्डा, सीए सुनील दत्त, सीए विंकल सोनी, सीए सुशांत बसरा मौजूद थे।

Edited By: Pankaj Dwivedi