संवाद सहयोगी, जालंधर।  थाना रामामंडी के प्रभारी नवदीप पर जमानत पर आए युवक को जबरन उठाने का आरोप लगाकर पूर्व कैबिनेट मंत्री मनोरंजन कालिया, पूर्व विधायक सरबजीत सिंह मक्कड़ सहित तमाम भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं ने पुलिस कमिश्नर दफ्तर का घेराव किया। दरिया बिछाकर सीपी दफ्तर के बाहर ही सारे भाजपा नेता बैठे और पुलिस विभाग के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

पूर्व मंत्री कालिया ने बताया कि किसी आपराधिक मामले में संतोषी नगर में रहने वाली एक महिला ने राजा नाम के युवक पर छेड़छाड़ का आरोप लगाया था। महिला खुद नशा बेचती है और राजा उसका विरोध करता था। इसी वजह से उसने राजा को फंसा दिया। पुलिस ने बिना जांच किए राजा पर मामला दर्ज कर लिया और राजा ने अदालत से जमानत ले ली।

आरोप था कि जमानत लेने के बावजूद महिला के समर्थन में आए आम आदमी पार्टी के नेताओं के कहने पर उन्होंने राजा को फिर से उठा लिया। उन्होंने थाना प्रभारी के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की मांग की।

धरने के दौरान मौके पर डीसीपी जगमोहन सिंह जसकिरणजीत सिंह तेजा पहुंचे और सभी को पुलिस कमिश्नर गुरशरण सिंह संधू से मिलवाया। उन्होंने भाजपा नेताओं को उचित कारवाई करने का आश्वासन देकर शांत किया।

उधर, ढाबा चलाने वाली महिला ने आरोप लगाया कि राजा और उसके साथियों ने उसके साथ गलत हरकत की और शिकायत देने पर धमकियां भी दीं। थाना प्रभारी ने कार्रवाई की तो उसके खिलाफ भी मोर्चा खोला। उसका आरोप था कि पूर्व मंत्री मनोरंजन कालिया की शह पर उक्त लोग उसके साथ गुंडागर्दी कर रहे हैं और सरेआम नशा भी बेच रहे हैं। 

थाना प्रभारी नवदीप बोले- कानून के मुताबिक कार्रवाई की 

वहीं इस संबंध में थाना प्रभारी नवदीप सिंह का कहना था कि कानून के हिसाब से कार्रवाई की जा रही है। किसी के दबाव में आकर किसी के खिलाफ कुछ नहीं किया जा रहा है।

Edited By: Pankaj Dwivedi