जालंधर, जेएनएन। श्री अमरनाथ यात्रा के दौरान श्रद्धालुओं पर आतंकी हमले की आशंका मद्देनजर प्रशासन ने शिव भक्तों को बिना यात्रा पूरी किए ही लौटा दिया है। शिव भक्तों की सेवा के लिए वहां पर लंगर लगाने वाली कमेटियों को भी हटा दिया गया। बताया जा रहा है कि पूरा इलाका दो दिन के भीतर खाली करवाया जा रहा है इसमें श्रद्धालुओं के अलावा स्टॉल लगाने वाले, खच्चर तथा अन्य सेवाएं देने वालों को भी हटाया जा रहा है।

बालटाल में लंगर लगाने वाली मकसूदां की संस्था दि अमरनाथ बी ट्रस्ट के प्रधान भारत भूषण अग्रवाल ने बताया कि स्थानीय प्रशासन ने सरकार के आदेश का हवाला देते हुए उन्हें वहां से हटाने के निर्देश दिए हैं। इसके चलते वहां लंगर के सभी पंडाल उखाडऩे पड़े। उन्होंने बताया कि उनकी संस्था की तरफ से शिव भक्तों को लंगर के अलावा निःशुल्क मेडिकल कैंप और आराम करने के लिए सुविधाएं दी जा रही थीं। प्रसाशन के आदेश के बाद उन्होंने पैक अप कर लिया है।

भक्तों पर दोहरी मार, टोल प्लाजा पर की गई वसूली

श्री अमरनाथ यात्रा संपन्न होने से पहले ही वापस भेजने पर रोष जता रहे शिव भक्तों को दोहरी मार पड़ी है। कारण, यात्रा से पूर्व लंगर कमेटियों को टोल प्लाजा में राहत देने की घोषणा के बावजूद उनसे वसूली की जा रही है। इस बारे में श्री अमरनाथ बी ट्रस्ट के कु लभूषण कुमार बताते हैं कि बार-बार कहने के बावजूद टोल प्लाजा पर राहत नहीं मिली। यहां तक कि लखनपुर टोल प्लाजा पर लिखित आदेश भेजने के बाद भी वसूली की गई है।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Pankaj Dwivedi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!