जासं, जालंधर

जिला शिक्षा अधिकारी (डीईओ) सेकेंडरी के दफ्तर में सशस्त्र सेना झंडा दिवस की टिकटों के फंड में घालमेल के बाद अब क्लर्क ने 52 हजार रुपये जमा करवा दिए हैं। इस फंड में एक लाख रुपये का घालमेल हुआ था।

यह मामला उस समय प्रकाश में आया, जब प्रशासन की तरफ से रेडक्रास सोसायटी के अधीन डीईओ दफ्तर को जारी की गई टिकटों की राशि जमा करवाने संबंधी पत्र लिखा गया। तीन दिन पहले जिला शिक्षा अधिकारी सेकेंडरी हरिदरपाल सिंह और उप जिला शिक्षा अधिकारी राजीव जोशी ने मामले का संज्ञान लेते हुए रिकवरी शुरू कर दी। उन्होंने कहा कि टिकटों के एक लाख रुपये में से क्लर्क ने फिलहाल 52 हजार रुपये बुधवार को जमा करवा दिए गए हैं। बाकी की रकम के लिए अगले मंगलवार तक का समय दिया गया है।

डीईओ दफ्तर को एक लाख रुपये की टिकटें नवंबर 2019 में जारी की गई थी और सात दिसंबर को फ्लैग डे मनाया जाता है। इन टिकटों को सभी स्कूलों व दफ्तरों में बांटने के बाद 31 मार्च तक इसका फंड जमा करवाया जाना था। सारा फंड इकट्ठा होने के बाद दफ्तर की तरफ से जिला रेडक्रास सोसायटी को सुपुर्द किया जाता है। जिला शिक्षा अधिकारी हरिदरपाल सिंह कहते हैं कि 22 मार्च को जनता क‌र्फ्यू और 23 मार्च से लाकडाउन लग गया था। गौर हो कि प्रत्येक वर्ष सात दिसंबर को सशस्त्र सेना झंडा दिवस मनाया जाता है और इसकी टिकटें सभी विभागों को जारी की जाती हैं। शिक्षा विभाग की तरफ से यह टिकटें बच्चों को दस-दस रुपये में बांटी जाती हैं। इन टिकटों का फंड सशस्त्र सेना भलाई में खर्च किया जाता है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस