जालंधर, जेएनएन। उद्योग मंत्री सुंदर शाम अरोड़ा ने आरोप लगाया है कि केंद्र सरकार पंजाब तक ट्रेनें आने से रोककर भेदभाव कर रही है। उन्होंने कहा कि इससे सभी मालगाड़ियां रुक गई हैं। पंजाब की इंडस्ट्री के लिए कच्चा माल नहीं पहुंच पा रहा है। ना ही तैयार माल यहां से अन्य राज्यों के लिए सप्लाई हो पा रहा है। हालांकि इस बीच यह मैसेज आ गया कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की रेल मंत्री से बात हो गई है और मालगाड़ियों को चलाने की मंजूरी दे दी गई है।

सुंदर शाम अरोड़ा ने कहा कि अगर रेल यातायात नहीं खुलता है तो इससे पंजाब की इंडस्ट्री को भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है। मुख्यमंत्री इस मामले को केंद्र के साथ गंभीरता से उठा रहे हैं। अरोड़ा ने कहा कि वीरवार को कारोबारियों और उद्योगपतियों के साथ मीटिंग में सी फॉर्म, इंडस्ट्रियल जोन में विकास, डीम्ड एसेसमेंट जैसे मुद्दों पर चर्चा हुई है। सी फॉर्म ना मिलने के कारण हो रही परेशानी को दूर करने और डीम्ड एसेसमेंट पॉलिसी लाने के लिए मुख्यमंत्री गंभीर हैं। इसे लेकर दो-तीन दिनों में फैसला आ जाएगा।

मीटिंग में सांसद चौधरी संतोख सिंह, विधायक परगट सिंह, विधायक राजिंदर बेरी, विधायक बावा हैनरी, पंजाब मीडियम इंडस्ट्री बोर्ड के डायरेक्टर मलविंदर सिंह लक्की और डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी मौजूद रहे।

 

 

 

 

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस