जालंधर, जेएनएन। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे को देखते हुए अभी आइलेट्स सेंटर नहीं खोले जाएंगे। मुख्यमंत्री के शनिवार को आस्क कैप्टन फेसबुक लाइव कार्यक्रम के दौरान जालंधर की नवनीत कौर ने उनसे यह सवाल पूछा था।

सवाल का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि वो व्यक्तिगत तौर पर आइलेट्स या दूसरे कोचिंग सेंटर खोलने के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन लॉकडाउन की गाइडलाइंस केंद्र सरकार ने जारी की हैं। नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट के तहत इन सेंटरों का लोगों की सुरक्षा के लिए बंद रहना जरूरी है।

उन्होंने कहा कि वो इस मुद्दे को केंद्र सरकार के साथ उठाएंगे। वहीं इस दौरान कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कालेज व यूनिवर्सिटी के विद्यार्थियों को राहत देते हुए उनकी परीक्षाएं रद करने का एलान किया गया है। विद्यार्थियों को उनके पिछली परीक्षा परिणाम के आधार पर प्रमोट किया जाएगी। अगर कोई विद्यार्थी परीक्षा में अपने अच्छे अंक लेना चाहता है तो वह कोरोना संकट के खत्म होने के बाद परीक्षा दे सकता है। इससे पहले हाइकोर्ट ने स्कूल के विद्यार्थियों को राहत देते हुए उनकी परिक्षाएं रद कर दी थी और बच्चों को अगली कक्षा में प्रमोट कर दिया था।

गौर हो कि विश्व भर में फैली कोरोना वायरस महामारी से बचाव के लिए लगाए गए लाकडाउन के दौरान देशभर के स्कूल और कालेजों को बंद किया गया है औऱ जुलाई के अंत तक कालेजो और स्कूलों को बंद रखने के आदेश जारी किए गए है।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!