जागरण संवाददाता, जालंधर : पीएपी चौक से लेकर रामामंडी फ्लाईओवर के नीचे तक लगने वाले जाम से पक्के तौर पर निजात पाने के लिए निर्माण कंपनी अपनी ड्राइंग में बदलाव कर सकती है। सर्विस लेन से हाईवे पर वाहनों को सीधा प्रवेश देने के विकल्प पर विचार किया जाएगा हालांकि इसके लिए स्थानीय प्रशासन को एनएचएआइ के समक्ष इस समस्या को उठाना होगा और इस समस्या के हल के लिए सर्विस लेन से सीधे हाईवे पर प्रवेश की मांग भी रखनी होगी।

हालांकि सर्विस लेन पर लग रहे लंबे ट्रैफिक जाम के मद्देनजर अनाधिकृत तौर पर सर्विस लेन से सीधे हाईवे पर प्रवेश दे दिया गया है लेकिन यह अस्थायी ही है और अगर इस समस्या के समाधान का मसला नहीं उठाया गया तो दोबारा इस प्रवेश को बंद कर दिया जाएगा। हाईवे का निर्माण कर रही कंपनी ने जो अस्थायी रूप से हाईवे पर प्रवेश दिया वह बेहद संकरा है और इसे मात्र टेप लगाकर मोड़ा गया है। इस वैकल्पिक व्यवस्था से छोटे वाहन तो आसानी से निकल रहे हैं लेकिन बड़े वाहन निकल नहीं पा रहे है। भारी वाहन अभी भी सर्विस लेन पर ही जा रहे हैं जिससे ट्रैफिक की गति सर्विस लेन पर काफी धीमी है। इस बारे में एनएचएआइ की आउटसोर्स इंजीनियर कंपनी लक्ष्मीनारायण मालवीय इंफ्रा प्रोजेक्ट्स के इंजीनियर निकेश पटेल ने कहा कि मौजूदा समय में सर्विस लेन से हाईवे पर दिया गया प्रवेश अस्थायी है। अगर प्रशासन इसकी मांग करता है तो रामा मंडी फ्लाईओवर से ठीक पहले सर्विस लेन से हाईवे पर पक्के तौर पर प्रवेश दे सकते हैं। इस संबंध में डिप्टी कमिश्नर अपनी बैठक में फैसला ले सकते हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!