जागरण संवाददाता, जालंधर : विेस्ट हलके में निगम का कार्रवाई का विरोध करते विधायक सुशील रिंकू ज्वाइंट कमिश्नर आशिका जैन और बिल्डिंग इंस्पेक्टर अजीत शर्मा को कार्रवाई रोकने को कहते हुए।साथ ही रिंकू ने आशिका से यह भी कहा था वे लेडी अफसर हैं, इसलिए इसलिए वो उन्हें कुछ कह नहीं सकते। कोई पुरुष अफसर होता तो बताते कि वे कैसे पेश आते हैं। अपनी ड्यूटी कर रहीं आईएएस अधिकारी से विधायक द्वारा गलत व्यवहार करने के मामले में आईएएस एसोसिएशन ने कड़ा संज्ञान लिया है।

डीसी वरिंदर शर्मा ने बताया कि आईएएस एसोसिएशन के प्रधान आईएएस केबीएस सिद्धू ने उनसे फोन पर बात की और घटना के बारे में जानकारी ली। डीसी ने बताया कि मामले की जानकारी देने के साथ ही उन्होंने सिद्धू को सोशल मीडिया पर वायरल हुई वीडियो क्लिप भी भेज दी हैं। डीसी ने बताया कि इस मामले में आशिका जैन ने कोई शिकायत नहीं दी है। इस मामले में जब आईएएस केबीएस सिद्धू से बात करने की कोशिश की गई तो उनका फोन

---------------------------------

आशिका ने नहीं दी शिकायत, निगम कमिश्नर बोले- मामले पर विचार कर रहे

निगम कमिश्नर दीपर्वा लाकड़ा ने कहा कि मामले में उचित कार्रवाई होगी। इस मामले पर विचार किया जा रहा है। वहीं, विधायक के रवैये की आईएएस एसोसिएशन से शिकायत करने के संबंध में पूछे जाने पर आशिका जैन ने बताया कि उनके द्वारा किसी तरह की कोई शिकायत नहीं की गई है।

एक दर्जन अवैध निर्माणों पर चलाई थी डिच

गौरतलब है कि शुक्रवार को ज्वाइंट कमिश्नर आशिका जैन के नेतृत्व में निगम की बि¨ल्डग ब्रांच की टीम ने वेस्ट हलके में करीब एक दर्जन अवैध निर्माणों पर डिच चला दी थी। इसी दौरान करण इंक्लेव में अवैध दुकानों पर कार्रवाई करने पहुंची टीम का विधायक सुशील ¨रकू ने मौके पर पहुंचकर विरोध किया था और निगम की टीम को दोबारा उनके हलके में कार्रवाई न करने की चेतावनी भी दी थी।

Posted By: Jagran