जेएनएन, जालंधर। पंजाब के सभी जिलों में शनिवार को भारी बारिश के भाखड़ा बांध के फ्लड गेट खोलने से राज्‍य के कई हिस्‍सों में बाढ़ के हालात बन गए हैं। इधर, जालंधर में डीसी वरिंदर शर्मा ने सतलुज की चपेट में आने की आशंका वाले फिल्लौर, नकोदर और शाहकोट के निचले इलाकों के 81 गांव खाली करवाने के आदेश संबंधित एसडीएम को जारी किए हैं। ये आदेश रविवार को बाढ़ के हालात पर की अहम बैठक के बाद दिए गए हैं।

सांसद चौधरी ने फिल्लौर में लिया जायजा

फिल्लौर में बाढ़ के हालात का जायजा लेते हुए सांसद संतोख सिंह चौधरी।

बाढ़ के हालात के मद्देनजर रविवार को सांसद संतोख चौधरी ने फिल्लौर में स्थिति का जायजा लिया। मौके पर सांसद के साथ उनके बेटे विक्रमजीत सिंह चौधरी, अन्य कांग्रेस नेता, एडीसी जसवीर सिंह, एसडीएम राजेश शर्मा आदि भी मौजूद थे। इधर, शाहकोट में विधायक लाडी शेरोवालिया के साथ डीसी वरिंदर शर्मा ने हालात का जायजा लिया। फिल्लौर में दरिया खतरे के निशान की ओर बढ़ रहा है। किसी भी आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए यहां NDRF की टीमें भी पहुंच गई हैं। दरिया के किनारे से गुर्जर परिवारों को शिफ्ट किया गया है।

शाहकोट में सतलुज में बाढ़ के हालात का जायजा लेते हुए विधायक लाडी शेरोवालिया।

प्रशासन ने दरिया किनारे रहने वाले गुर्जर परिवारों को शिफ्ट कर दिया है।

उधर, मौसम विभाग ने आगामी तीन दिन तक पंजाब के कई शहरों में भारी बारिश की चेतावनी दी है। राज्य में बाढ़ का खतरा है। मौसम विभाग के अनुसार शनिवार से लेकर रविवार तक उत्तरी पंजाब में बहुत तेज बारिश हो सकती है। पूर्वानुमान को देखते हुए किसानों को पहले से ही अलर्ट कर दिया गया है। पंजाब में 20 अगस्त के बाद मौसम साफ होने का अनुमान है। मुख्यमंत्री ने सभी डीसी को पुख्ता इंतजाम करने के निर्देश दिए हैं।

भाखड़ा बांध के गत शुक्रवार दोपहर तीन बजे खोले गए फ्लड कंट्रोल गेटों को एक फीट से बढ़ाकर शनिवार सुबह नौ बजे चार फीट तक खोल दिया गया। यह पानी आनंदपुर साहिब के गांव लोधीपर, लोदीपुर ब्रोटू बॉस से आगे गांव मटौर, निक्कूवाल, मेहंदली कलां, गज्जपुर, चंदपुर, मिढवां लोअर, कोटला लोअर, शाहपुर बेला, बलो वाला आदि गांवों में तीन से चार फीट तक भर गया।

किसानों की हजारों एकड़ क्षेत्र में फसलें पानी में डूब गई हैं। बारिश के चलते रावी दरिया में जल स्तर बहुत बढ़ गया है। दरिया के साथ लगती मकौड़ा पत्तन की सड़क पर चार फीट पानी भर गया। इससे नजदीक ही स्थित गुज्जरों के 20 घर पानी में डूब गए। पानी में फंसे गुज्जर परिवारों को थाना बहरामपुर की पुलिस ने निकालकर सुरक्षित जगह पहुंचाया। भारत-पाक सीमा पर कई जगह फेंसिंग भी पानी में डूब गई।

पठानकोट में सड़कों पर गिरीं चट्टानें

पठानकोट में धार, दुनेरा, डलहौजी मार्ग पर चट्टानें गिर गई हैं। इससे मणिमहेश जाने वाले यात्रियों को भारी परेशानी हो रही है। सड़कों को साफ करने का काम जारी है। बताया जा रहा है कि रविवार तक मार्ग पर ट्रैफिक बहाल हो सकेगा।

सफेदे का पेड़ स्कार्पियों पर गिरा, पांच जख्मी

फरीदकोट रोड पर गांव मचाकी कलां के पास शनिवार दोपहर तेज हवा व बारिश के बीच सड़क किनारे सफेदे का पेड़ स्कार्पियो पर गिर गया। इसके चलते गाड़ी में सवार चार स्कूल अध्यापिकाओं के अलावा गाड़ी का चालक गंभीर रूप से घायल हो गया।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Kamlesh Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!