जालंधर [अंकित शर्मा]। शिक्षा विभाग की तरफ से एक बार फिर राज्य के सरकारी प्राइमरी स्कूलों की ग्रेडिंग का प्रोसेस शुरू कर दिया गया है। इसका उद्देश्य स्कूलों की क्वालिटी में सुधार लाना है। शिक्षा विभाग ने सभी सेंटर हेड को अपने स्कूल का सारा डाटा ई-पंजाब स्कूल पोर्टल पर स्कूल ग्रेडिंग के फॉरमैट में अपलोड करने अनिवार्य किए हैं। इसके तहत विभाग की तरफ से इन स्कूलों की प्रगति रिपोर्ट, बच्चों की हाजरी रिपोर्ट और स्कूल की सुविधाओं पर आधारित रिपोर्ट तैयार की जाएगी। इसी के आधार पर सभी स्कूलों को ग्रेडिंग के हिसाब से बांटा जाएगा ताकि उनकी बेहतरी के लिए काम किया जाए। बेहतर क्वालिटी वालों स्कूलों में और मेहनत करवाई जाएगी व खराब हालात वाले स्कूलों में जाकर मोटिवेट किया जाएगा।

पहले भी डाटा अपलोड करने के हुए थे आदेश

बता दें कि विभाग की ओर से पहले 26 जून को भी प्राइमरी स्कूलों का डाटा ई-पंजाब स्कूल पोर्टल अपलोड करने के आदेश दिए गए थे, लेकिन तकनीकी कारणों से डाटा अपलोड नहीं हो पाया था। यही कारण है कि अब सभी प्राइमरी स्कूलों को सात दिनों में सारा डाटा अपलोड करने का टाइम दिया है। इस संबंध में जिला शिक्षा अधिकारी, ब्लाक प्राइमरी शिक्षा अधिकारी और सेंटर हेड को आदेश जारी कर दिए गए हैं।

ऐसे सेव होगा डाटा

डाटा सेव करने के लिए स्कूलों को ई-पंजाब पोर्टल लॉग इन करने के बाद डिटेल ऑप्शन सेलेक्ट करना होगा। स्क्रीन पर स्कूल ग्रेडिंग लिंक पर क्लिक करते ही पांच मॉडयूल्स का फॉरमैट होगा। इसमें बच्चों की हाजिरी व कुल बच्चों की संख्या, स्कूल का साल दर साल रिजल्ट प्रोग्रेस रिपोर्ट, स्कूल का इंफ्रास्ट्रक्चर, स्कूल मैनेजमेंट कमेटी और दानी सज्जनों की तरफ से दिया गया सहयोग व कुल राशि से जुड़ी जानकारियां अपलोड करनी होगी।

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!