जासं,बठिंडा। बारह दिनों का पुलिस रिमांड समाप्त होने के बाद शनिवार को गैंगस्टर लारेंस बिश्नोई को बठिंडा की जिला अदालत में पेश किया गया। जहां पर अदालत ने बिश्नोई को 14 दिनों के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। गैंगस्टर बिश्नोई का पुलिस रिमांड हासिल करने जालंधर पुलिस भी अदालत के बाहर पहुंची हुई थी, लेकिन जालंधर पुलिस को उक्त गैंगस्टर का पुलिस रिमांड नहीं मिला। जिसके चलते जालंधर पुलिस खाली हाथ वापस लौट गई।

एसएसपी जे इलनचेजियन ने बताया कि कारोबारी से रंगदारी हासिल करने के लिए गैंगस्टर गोल्डी बराड़ एवं बिश्नोई ने अपने शूटरों के जरिए कारोबारी मंगला के घर पर फायरिंग एवं पेट्रोल बम से हमला करवाया था। इस मामले में पुलिस ने थाना थर्मल में केस दर्ज कर दो आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया था। उन्होंने बताया कि उक्त मामले में गैंगस्टर लारेंस बिश्नोई को भी नामजद किया गया था। जिसके तहत उसे 12 सितंबर को खरड़ से पुलिस ने प्रोडंक्श्न वारंट पर लाकर अदालत में पेश कर 12 दिन का पुलिस रिमांड हासिल किया था। एसएसपी ने बताया कि उक्त गैंगस्टर का बारह दिनों का पुलिस रिमांड समाप्त होने पर आज उसे अदालत में पेश किया गया था। जहां पर अदालत ने उसे 14 दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया। गैंगस्टर बिश्नोई ने 12 दिन के पुलिस रिमांड के दौरान पुलिस के पास किस तरह का खुलासा किया, इस बारे में एसएसपी ने कोई जानकारी मीडिया से साझी नहीं की।

जालंधर पुलिस लौटी खाली हाथ

शनिवार को बठिंडा की अदालत में गैंगस्टर लारेस बिश्नोई को पेश किए जाने का पता चलते ही जालंधर पुलिस एक मामलें में गैंगस्टर बिश्नोई को प्रोडंक्शन वारंट पर लेने के लिए पहुंची थी। शनिवार सुबह से ही जालंधर पुलिस गैंगस्टर बिश्नोई को प्रोडंक्श्न वारंट पर लेने के लिए अदालत के बाहर खड़ी रही, लेकिन जब बठिंडा पुलिस ने बिश्नोई को अदालत में पेश किया तो अदालत ने उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। जिसके बाद जालंधर पुलिस की टीम खाली हाथ वापस लौट गई।

वकील ने कहा, बठिंडा की बजाय तिहाड़ जेल भेजा जाए बिश्नोई

गैंगस्टर लारेंस बिश्नोई के वकील रणजीत सिंह बहनीवाल ने शनिवार को पेशी के बाद अदालत से मांग की कि बिश्नोई को वापस तिहाड़ जेल भेजा जाए। वकील ने सुरक्षा प्रबंधों पर सवाल उठाते हुए कहा कि बिश्नोई केंद्रीय जेल बठिंडा में असुरिक्षत है।

हाई सुरक्षा जोन में जेल अंदर बंद होगा बिश्नोई

बठिंडा की केंद्रीय जेल में बने हाई सुरक्षा जोन में गैंगस्टर बिश्नोई को बंद रखा जाएगा। हालांकि उक्त जेल के हाई सुरक्षा जोन में पहले से ही 66 से अधिक ए केटागिरी वाले गैंगस्टर बंद है। जिसमें बिश्नोई के विरोधी और उसके गुट के भी शामिल है। जेल के सूत्रों के अनुसार बिश्नोई को अकेले ही जेल के हाई सुरक्षा जोन की एक बैरक में अलग रखा जाएगा। जिससे उस पर लगातार नजर रखी जा सकें।

Edited By: Vinay kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट